कृषि उत्पादन आयुक्त मनोज कुमार सिंह ने स्वीडन में ‘विश्व जल सप्ताह के दौरान ऊ0प्र0 के कृषि क्षेत्र में जल प्रभावों पर प्रस्तुति दी

 

लखनऊ (मानवी मीडिया) कृषि उत्पादन आयुक्त  मनोज कुमार सिंह ने स्वीडन के स्टॉकहोम में आयोजित विश्व जल सप्ताह 2022 में प्रतिभाग किया और इस दौरान प्रदेश के जल सुधारों पर अपने विचार रखे। उन्होंने उत्तर प्रदेश के कृषि क्षेत्र में जल प्रभाव पर प्रस्तुति दिया। उन्होंने उत्तर प्रदेश के कृषि क्षेत्र में नवीन तकनीक के प्रयोग से हो रहे प्रभावी बदलावों को उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से विश्व के समक्ष रखा। 

 सिंह ने चर्चा करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के कृषि क्षेत्र में मशीनीकरण, वित्तीय, डिजिटल और प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के क्षेत्रों में निवेश की आपार सम्भावनाएं है। उन्होने वैश्विक समुदाय को उ0प्र0 में कृषि क्षेत्र में निवेश के लिए आमंत्रित भी किया। 

 मनोज कुमार सिंह ने सोमवार को ‘विश्व जल सप्ताह 2022’ कार्यक्रम के दौरान कहा कि उत्तर प्रदेश के कृषि क्षेत्र में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के कुशल नेतृत्व में प्रभावी बदलावों हो रहे है। ‘‘वित्तीय नवाचारों‘‘ के माध्यम से परिवर्तनकारी जल प्रभाव’ विषय पर प्रस्तुति देते हुए प्रदेश के कृषि क्षेत्र में नवीन तकनीक के प्रयोग से आए बहुआयामी बदलावों से वैश्विक मंच को अवगत कराया। इस दौरान मौजूद प्रतिनिधियों के सवालों के जवाब भी दिए।  

उन्होंने कहा, ‘उत्तर प्रदेश के कृषि क्षेत्र में फसलों को उगाने के सबसे कुशल जल और पोषक तत्व वितरण प्रणाली ड्रिप सिंचाई व्यवस्था के अभिनव प्रयोग किया जा रहा है। मृदा स्वास्थ्य कार्ड, जैविक खेती, मिट्टी में कार्बनिक बढ़ोत्तरी कर 

प्राकृतिक खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है। उन्होंने उत्तर प्रदेश में जल संचयन एवं संरक्षण के लिए किए जा रहे प्रभावी कार्यों को भी प्रस्तुति के माध्यम से विश्व पटल पर रखा। 

उल्लेखनीय है कि 23 अगस्त से 01 सितंबर के बीच विश्व जल सप्ताह 2022 का आयोजन स्टॉकहोम इण्टरनेशनल वॉटर इन्स्टीट्यूट (एसआईडब्ल्यूआई) द्वारा स्टॉकहोम, स्वीडन में किया जा रहा है। विश्व जल सप्ताह का आयोजन जल संबंधी वैश्विक चुनौतियों पर प्रकाश डालता है एवं उन प्रमुख परिवर्तनों पर केंद्रित है, जो हमें सतत विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने और कार्बन उत्सर्जन को कम करने की आवश्यकता पर केंद्रित करता है।


Previous Post Next Post