दोगुना पैसा करने के नाम पर करोड़ो रूपये की ठगी कर फरार शातिर अपराधी कुलदीप राजन रूॅंगटा गिरफ्तार।

 


लखनऊ (मानवी मीडिया)एस0टी0एफ0, उ0प्र0 व मीरा भाइंदर वसई विरार पुलिस कमिश्नरेट महाराष्ट्र पुलिस के संयुक्त टीम द्वारा पैसा दोगुना करने के नाम पर करोड़ो रूपये की ठगी करने आदि के संबंध में थाना भइंदर पर दिनांक 14-07-2022 को पंजीकृत मु0अ0सं0 330/22 धारा 420/406/34 आई0पी0सी0 में शामिल अपराधी कुलदीप राजन रूॅंगटा को गिरफ्तार करने में उल्लेखऩीय सफलता प्राप्त हुई है।

गिरफ्तार अभियुक्त का विवरणः-

कुलदीप राजन रूॅंगटा पुत्र प्रमोद निवासी 1207 सोनम इन्द्रप्रस्थ, न्यू गोल्डेन ईस्ट, भइंदर ईस्ट, जनपद थाणे, महाराष्ट्र। 

बरामदगीः-

1-मोबाइल फोन-02

2-एस0बी0आई0 बैंक का ए0टी0एम0 कार्ड-01अदद। 

3-आधार कार्ड-01

गिरफ्तारी का स्थान/समयः-

मैदागिन, थाना कोतवाली, जनपद वाराणसी। दिनांक 15-07-2022 समय- पूर्वाह्न 11.30 बजे।

थाणे (महाराष्ट्र) में फर्जी प्रोपराइटर कम्पनी खोलकर पैसा दोगुना करने के नाम पर ठगी करने आदि के संबंध में दिनांक-14-07-2022 को थाना भइंदर पर मु0अ0सं0 330/22 धारा 420/406/34 आई0पी0सी0 पंजीकृत हुआ था। उक्त मुकदमें के अभियुक्त कुलदीप राजन उर्फ रूॅंगटा के जनपद वाराणसी में छिपे होने की सूचना प्राप्त होने पर मीरा भाइंदर वसई विरार पुलिस द्वारा अभिसूचना को साझा करते हुए एस0टी0एफ0 उ0प्र0 से आवश्यक सहयोग मांगा गया था। इस सम्बन्ध में एस0टी0एफ0 फील्ड इकाई वाराणसी के निरीक्षक अनिल कुमार सिंह के नेतृत्व में एक टीम व मीरा भाइंदर वसई विरार पुलिस की टीम द्वारा स्थानीय स्तर पर अभिसूचना संकलन की कार्यवाही की जा रही थी कि अभिसूचना संकलन के दौरान विश्वस्त सूत्र से प्राप्त सूचना के आधार पर आज दिनांक 15-07-2022 को उक्त मुकदमें के अभियुक्त कुलदीप राजन रूॅंगटा को जनपद वाराणसी के थाना कोतवाली क्षेत्रान्तर्गत मैदागिन के पास से गिरफ्तार किया गया। 

अभिसूचना संकलन, पुलिस विवेचना एवं पूछताछ से पाया गया कि कुलदीप राजन रूॅगटा एवं अन्ना गोपाल अमरूते ने मिलकर वर्ष 2018 में तीन प्रोपराइटर कंपनी क्रमशः 1- ए0एस0 स्क्योरिटी कंपनी, 2-ए0जी0 स्क्योरिटी कंपनी एवं 3- के0के0 स्क्योरिटी कंपनी जनपद थाणे (महाराष्ट्र) के मीरा भइंदर में खोला था। वहॉं के स्थानीय लोगों से 50 हजार रूपये से लेकर करोड़ो रूपये तक जमा करते थे और ग्राहको को डेढ़ वर्ष में उनके पैसे को दोगुना करने का लालच देते थे। ग्राहकों के जमा हुये पैसे को ये लोग अपने डिमेट एकाउण्ट में जमा कर इस पैसे से शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करते थे। इनकी कंपनियों में लगभग दो हजार से भी अधिक लोगों ने करोड़ो रूपये इनके यहॉं जमा किये थे। आज से लगभग 10 दिन पहले अन्ना गोपाल अमरूते ने अपने तीनों कंपनियों का आफिस व मकान बेचकर फरार हो गया था तथा कुलदीप राजन रूॅंगटा भी वहॉं से फरार होकर वाराणसी में आकर छुप कर रह रहा था। ग्राहको द्वारा इस संबंध में थाना भइंदर में मु0अ0सं0 330/22 धारा 420/406/34 आई0पी0सी0 पंजीकृत कराया था। आज मीरा भाइंदर वसई विरार पुलिस कमिश्नरेट पुलिस टीम एवं एस0टी0एफ0 टीम द्वारा कुलदीप राजन रूॅंगटा को गिरफ्तार किया गया। 

थाना भइंदर पर पंजीकृत मु0अ0सं0 330/22 धारा 420/406/34 आई0पी0सी0 में गिरफ्तार उक्त अभियुक्त को थाना कैण्ट वाराणसी में दाखिल करते हुये मा0 न्यायालय वाराणसी के समक्ष प्रस्तुत कर ट्रांजिट रिमाण्ड प्राप्त करने की विधिक कार्यवाही तथा मामले की समस्त अग्रिम कार्यवाही मीरा भइंदर वसई विरार पुलिस कमिश्नरेट (महाराष्ट्र) द्वारा की जा रही है।

Previous Post Next Post