कोटेदारी को लेकर चल रहे हैं रोज लाठी डंडे नहीं सुन रहा है प्रसासन


लखनऊ (मानवी मीडिया) सुल्तानपुर कुड़वार ब्लॉक के ग्राम पंचायत दाऊद पुर(लंगड़ी) का कोटा विकास स्वयं सहायता समूह के नाम से चलता है इस समूह में ग्यारह महिलाएं हैं जिसमें कोटे कि संचालिका शकुंतला पाल पत्नी राम-लखन पाल है जिन पर समूह कि अन्य महिलाओं का आरोप है कि वह कमीशन के लिए अपना स्वयं का बचत खाता लगा रखा है जिसमें वो कमीशन का पैसा खुद अकेले हजम कर जाती है इसी मामले को लेकर पिछले कई दिनों से गांव में हलचल मची हुई है अभी हाल ही में इसी प्रकरण में  शकुंतला पाल व उनके साथ अन्य लोगों ने समूह कि एक महिला को जहर भी पिला दिया अभी हाल ही में समूह की महिलाओं के बीच कोटे को लेकर  मार-पीट भी की गई ऐसा बताया गया कि सप्लाई स्पेक्टर कोटे की जांच भी किये लेकिन जांच के बाद भी नतीजा कुछ भी नहीं निकला जिससे सक होता है कि सप्लाई स्पेक्टर कहीं नजराना लेकर तो नहीं मामले की खाना पूर्ति कर दिए वहीं समूह कि अन्य महिलाओं का आरोप यह भी है कि झगड़े के बाद भी हम लोगों ने ‌थाने से सहायता लेनी चाही लेकिन नतीजा कुछ नही निकला झगड़े के एक दिन पहले भी पुलिस चौकी पर सूचना दी‌ गयी‌ थी लेकिन योगी कि पुलिस ने कोई ध्यान नहीं दिया आखिर क्या अब यह भी कह सकते हैं कि प्रशासन की मिली भगत से यह घटना हो रही है समूह कि महिलाओं का कहना है कि कमीसन का सारा पैसा शकुंतला ले रही है यदि भविष्य में कभी भी ये कोई भी घोटाला करती है तो हरोप समूह कि सभी महिलाओं पर लगेगा वहीं संचालिका शकुंतला पर अन्य महिलाओं का आरोप यह भी है कि लड़ाई के तीन दिन पहले ही पुलिस प्रशासन कि मिली भगत से समूह कि पांच महिलाओं पर मुकदमा दर्ज करा रखा है आरोप यह भी है कि बंधुवा थाना व अलीगंज चौकी प्रभारी पूरी तरह से एकतरफा शकुंतला पाल का साथ दे रहे हैं तथा फर्जी मुकदमा समूह कि महिलाओं के ऊपर दर्ज किये हुए है समय से इस प्रकरण को संज्ञान न लिया गया तो सुल्तानपुर के इस ग्राम सभा में एक बड़ी फौजदारी हो सकती है*।

Previous Post Next Post