संजय राउतके घर ईडी की दबिश लटकी गिरफ्तारी की तलवार

मुंबई (मानवी मीडिया): शिवसेना नेता संजय राउत पर रविवार सुबह बड़ी कार्रवाई हुई है। पात्रा चॉल भूमि घोटाला मामले में आज केंद्रीय एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारी शिवसेना प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद के आवास पर पहुंचे हैं।

इस मामले में ईडी संजय राउत के घर की तलाशी और पूछताछ कर रही है। इस दौरान शिवसेना नेता संजय राउत ने ट्वीट किया कि ‘महाराष्ट्र और शिवसेना लड़ते रहेंगे’। इससे पहले ईडी ने संजय राउत को 1034 करोड़ रुपये के इस घोटाले में पूछताछ के लिए बुधवार को तलब किया था, लेकिन वह पेश नहीं हुए थे। उधर, इस मामले में गवाह सपना पाटकर को धमकी दी गई है कि वह बयान वापस ले ले। इस मामले में राउत पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है।

दरअसल पात्रा चॉल भूमि घोटाला मामले में गवाह सपना पाटकर को जान से मारने की धमकी के बाद मुंबई पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। इस मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत का नाम भी शामिल है। आरोप है कि सपना को धमकी भरा ऑडियो संजय राउत ने भिजवाया है। वहीं धमकी भरी चिट्ठी में ये भी लिखा था कि वह बयान में कहें कि पहले कही गई बातें उन्होंने बीजेपी नेता किरिट सोमैया के दबाव में आकर कही थीं। वहीं शिवसेना सांसद संजय राउत पर सपना पाटकर के साथ गाली गलौज करने का भी आरोप लगा है। इसका एक ऑडियो भी वायरल हुआ था। उनकी शिकायत पर मुंबई पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया था।

पात्रा चॉल घोटाला मुंबई के गोरेगांव इलाके से जुड़ा हुआ है। यह महाराष्ट्र हाउसिंग एंड एरिया डेवेलपमेंट अथॉरिटी का जमीन है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इसमें करीब 1034 करोड़ रुपए का घोटाला हुआ था। वहीं इस मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत की 9 करोड़ रुपये और उनकी पत्नी वर्षा की 2 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त कर ली गई थी।


इस मामले में ईडी पहले ही रीयल एस्टेट कारोबारी प्रवीण राउत को गिरफ्तार कर चुकी है। आरोप है कि प्रवीण ने पात्रा चॉल में रह रहे लोगों को धोखा दिया। इसमें एक कंस्ट्रक्शन कंपनी को यहां तीन हजार फ्लैट बनाने का काम मिला था, जिसमें से 672 फ्लैट पहले से यहां रह रहे लोगों को देने थे। बाकी एमएचएडीए और उक्त कंपनी को दिए जाने थे। लेकिन साल 2011 में इस जमीन के कुछ हिस्सों को दूसरे बिल्डरों को बेच दिया गया था।

Previous Post Next Post