अग्निपथ’ पर PM मोदी का बयान, ‘कुछ फैसले अनुचित लग सकते हैं, पर राष्ट्र निर्माण के लिए वे अहम


नई दिल्ली(मानवी मीडिया): अग्निपथ योजना को लेकर देशभर में बवाल मचा हुआ है। इसी बीच आज प्रधानमंत्री ने बिना नाम लिए पहली बार योजना को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी। दरअसल, आज नरेंद्र मोदी कर्नाटक के बेंगलुरु में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे। यहां उन्होंने अपने भाषण के दौरान देश के रेलवे सिस्टम की तारीफ की। हालांकि, इसी दौरान उन्होंने बिना अग्निपथ योजना का जिक्र किए कहा कि कुछ योजनाएं शुरुआत में अनुचित लग सकती हैं, लेकिन ये बाद में राष्ट्र निर्माण में मदद करती हैं। पीएम ने कहा- सुधार का रास्ता ही हमें आगे नए लक्ष्यों और नए संकल्प की ओर ले जा सकता है।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी का यह बयान ऐसे समय में आया है जब आज देशभर में कुछ संगठनों ने भारत बंद का आह्वान किया है। इसका अलग-अलग राज्यों में मिलाजुला असर देखा जा रहा है। इससे पहले पीएम ने भाषण के दौरान कहा कि हर देश को स्वास्थ्यसेवा को सर्वाधिक महत्व देना चाहिए। उन्होंने यह बात मस्तिष्क अनुसंधान केंद्र (सीबीआर) का उद्घाटन करने और यहां एक मल्टीस्पेशियलिटी अस्पताल की नींव रखने के बाद कही। मोदी ने भारतीय विज्ञान संस्थान (आईआईएससी) परिसर में 280 करोड़ रुपये की लागत से बने मस्तिष्क अनुसंधान केंद्र (सीबीआर) का उद्घाटन किया, जिसकी आधारशिला उन्होंने स्वयं रखी थी। उन्होंने कहा कि सीबीआर का उद्घाटन करके उन्हें बहुत खुशी हुई।

मोदी ने कहा, ‘‘यह खुशी इसलिए और भी बड़ी है, क्योंकि इस परियोजना की नींव रखने का सम्मान भी मुझे ही मिला था। यह केंद्र मस्तिष्क संबंधी विकारों के प्रबंधन संबंधी अनुसंधान में अग्रणी रहेगा।’’ अधिकारियों ने बताया कि सीबीआर को अपनी तरह के एक अलग अनुसंधान केंद्र के रूप में विकसित किया गया है और इसमें उम्र से संबंधित मस्तिष्क विकारों के समाधान के लिए साक्ष्य-आधारित जन स्वास्थ्य उपचार मुहैया कराने के उद्देश्य से महत्वपूर्ण अनुसंधान करने पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

Previous Post Next Post