फिसली सुरजेवाला की जुबान : सीता मैया का चीरहरण हुआ था


उदयपुर 
(मानवी मीडियाकांग्रेस के बाड़े से बाहर आए राज्यसभा चुनावों के प्रत्याशी कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला की भाजपा पर निशाना साधते हुए जुबान फिसली गई। वो द्रौपदी के चीरहरण का  उदाहरण देना चाहते थे, लेकिन वो कह गये कि जैसे सीता मैया का चीरहरण हुआ, वही लोग अब प्रजातंत्र का भी चीरहरण करना चाहते हैं। कांग्रेस नेता का यह बयान जारी होने के बाद सोशल मीडिया पर लोग सुरजेवाला से सवाल पूछ रहे हैं कि सीता मैया का चीरहरण कब हुआ था?

दरअसल सुरजेवाला शुक्रवार को होने वाले राज्यसभा चुनाव का जिक्र कर रहे थे। इसका जिक्र करते हुए सुरजेवाला ने कहा, 'हमें विश्वास है कि कल प्रजातांत्रिक बहुमत की जीत होगी। प्रजातंत्र का चीरहरण करने वाले लोग जो धनबल, सत्ताबल, ईडी, सीबीआई के भरोसे यहां तक आए हैं वो पहले भी मुंह की खाए थे और इस बार भी मुंह की खाएंगे। इसके बाद वो आगे कह गए कि झूठ का आववरण पहने लोग, जैसे एक समय सीता मैया का चीरहरण हुआ था, वो अब प्रजातंत्र का चीरहरण करना चाहते हैं। वो लोग हारेंगे, बेनाकब हो जाएंगे।

कांग्रेस नेता के इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर लोग अब उन्हें घेरने लगे हैं। सोशल मीडिया पर उनके इस बयान को लेकर उनसे सवाल पूछे जा रहे हैं और लोगों की प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं।

बहरहाल बता दें कि जयपुर रवाना होने से पहले सुरजेवाला ने मीडिया से बातचीत करते हुए किसानों के मुद्दे पर भी भाजपा को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि हमने किसानों का समर्थन राजनीतिक रोटियां सेकने के लिए नहीं किया था। सुरजेवाला ने कहा- राजस्थान में प्रजातांत्रिक बहुमत की जीत होगी।

Previous Post Next Post