महिला कैदियों के बच्चों के शारीरिक व मानसिक विकास हेतु चिल्ड्रेन पार्क की शुरूआत

 


लखनऊ (मानवी मीडिया)उत्तर प्रदेश के कारागार एवं होमगार्ड्स राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)  धर्मवीर प्रजापति ने बताया कि मुरादाबाद जेल में योग दिवस के अवसर पर महिला कैदियों के बच्चों के शारीरिक व मानसिक विकास हेतु चिल्ड्रन पार्क का उद्घाटन किया। उन्होंने बताया कि मुरादाबाद जेल उत्तर प्रदेश की प्रथम ऐसी जेल है जहां पर बंद महिला कैदियों के बच्चों के खेलने कूदने हेतु पार्क बनाया  गया है। 

प्रजापति ने बताया कि शासन की मंशा है कि महिला कैदियों के साथ जो बच्चे रह रहे हैं उनके शारीरिक व मानसिक विकास के लिए प्रदेश की 75 जनपदों की जेलों में पार्कों की स्थापना करायी जाए। इस दिशा में मुरादाबाद जेल में पार्क का उद्घाटन करके इसकी औपचरिक शुरुआत की गई है। उन्होंने बताया कि बंद महिला कैदियों के साथ जो बच्चे रह रहे हैं वे निर्दाेष हैं, फिर उन्हें कैदियों की भाँति क्यों रखा जाए। धर्मवीर प्रजापति का मानना है कि बचपन सभी के लिए खेलने कूदने का होता है, ऐसे में किसी भी बच्चे को खेलने कूदने के अवसर से वंचित नहीं किया जाना चाहिए।

  प्रजापति ने कहा कि इस प्रकार के पार्क का उद्देश्य है कि अपनी मां के साथ बंद बच्चे जब बाहर आए तो समाज के साथ घुल-मिल सकें और अपना भविष्य उज्जवल कर सकें। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के विभिन्न जेलों में करीब 450 बच्चे अपनी मां के साथ जेलों में बंद हैं जिनका  कोई दोष नहीं है,और वह अपनी मां की वजह से जेलों में रहने को बाध्य हैं।

Previous Post Next Post