विधि विश्वविद्यालयों/महाविद्यालयों के विधि छात्र/छात्राओं के पैरालीगल प्रशिक्षण (इन्टर्नशिप) कार्यक्रम का आयोजन

 न्यायमूर्ति  डी0के0 उपाध्याय ने विधि के छात्र/छात्राओं को भविष्य के लिए शुभ कामनाएं दी

लखनऊ: (मानवी मीडिया)
राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली एवं  न्यायमूर्ति  राजेश बिन्दल, मुख्य न्यायाधीश, उच्च न्यायालय, इलाहाबाद/मुख्य संरक्षक, उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण ;न्ण्च्ण् ैस्ै।द्ध व  न्यायमूर्ति  प्रीतिंकर दिवाकर, न्यायाधीश, उच्च न्यायालय इलाहाबाद/कार्यपालक अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण ;न्ण्च्ण् ैस्ै।द्ध के निर्देशानुसार आज 01 जून, 2022 से 30 जून, 2022 तक चलने वाले विभिन्न विधि विश्वविद्यालयों/महाविद्यालयों के विधि छात्र/छात्राओं के पैरालीगल प्रशिक्षण (इन्टर्नशिप) कार्यक्रम का आयोजन जवाहर भवन एनेक्सी के चतुर्थ तल पर स्थित सभाकक्ष में पूर्वान्ह 10-00 बजे से किया गया।
यह जानकारी उप सचिव श्री संजय सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि न्यायमूर्ति  डी0के0 उपाध्याय ने विधि के छात्र/छात्राओं को भविष्य के लिए शुभ कामनाएं दी गयी तथा उन्हें विधि के क्षेत्र में आगे जाने के लिए धैर्य एवं संयम रखने की सलाह दी गयी। 

न्यायमूर्ति द्वारा संविधान एवं न्यायपालिका की महत्ता को विस्तार से बताया गया तथा छात्रों को अधिवक्ता के रूप में विधि की सेवा में आने हेतु प्रेरित किया गया।

उक्त अवसर पर श्री संजय सिंह प्रथम, सदस्य सचिव उ0प्र0 राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा विधि के छात्र छात्राओं सेे विभिन्न विधिक पहलुओं पर चर्चा की गयी तथा उनकी जिज्ञासाओं को विस्तृत रूप से समझाया गया। सदस्य सचिव महोदय द्वारा कानून की बारीकियों एवं विधिक सेवा संस्थानों में क्रियाशील लीगल एड क्लीनिक के माध्यम से किस प्रकार आमजन को प्रदेश सरकार द्वारा चलायी जा रही कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाया जा सकता हैं, के बारे में भी विस्तार से बताया गया।  
इस अवसर पर राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के न्यायिक अधिकारीगण श्री भगीरथ वर्मा, विशेष कार्याधिकारी, श्री संजय सिंह द्वितीय, उपसचिव, श्री निश्चल शुक्ला, उपसचिव तथा राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कर्मचारीगण उपस्थित रहे।  
Previous Post Next Post