इलाहाबाद में प्रदर्शन के दौरान छुटपुट घटनाओं से बढ़ा तनाव

लखनऊ(मानवी मीडिया) जैसा कि अंदाजा लगाया जा रहा था कि मुस्लिम समुदाय पैगम्बर मो. साहब के अपमान को लेकर जुमे की नमाज के बाद प्रदर्शन कर सकते हैं और वैसा ही देखने को मिला। जहां लखनऊ के कई इलाकों में शान्तिप्रिय तरीके से प्रदर्शन किया गया जबकि कई इलाकों में किसी भी तरह के प्रदर्शन की कोई खबर नहीं है।

वहीं सहारनपुर, मुरादाबाद जैसे शहरों में तनाव की खबरों ने बाजार को गर्म कर दिया। बताया जाता है कि सहारनपुर और मुरादाबाद में हल्के फुल्के नारे लगाए गये और नुपुर शर्मा के खिलाफ़ कानूनी कार्यवाही की मांग की गयी। 

बड़ी खबर यह है कि इलाहाबाद या प्रयागराज में कई इलाकों में जुमे की नमाज के बाद माहौल गर्म हो गया और पथराव भी हुआ जबकि पुलिस मौके पर पहुंचकर माहौल को कंट्रोल करने की जुट गयी और हालात अब काबू में बताए जा रहे हैं।

इसी सिससिले में जहां देश भर में बीजेपी प्रवक्ता नुपुर शर्मा के खिलाफ़ नारेबाजी और कार्यवाही की मांग को लेकर एहतेजाज होता दिखा वहीं दिल्ली की जामा मस्जिद पर सबसे बड़े प्रदर्शन को देखा गया जहां तकरीबन 5 हजार से ज्यादा लोगों ने साथ मिलकर बीजेपी प्रवक्ता के खिलाफ़ नारेबाजी की और सजा की मांग की दिल्ली की जामा मस्जिद में पैगंबर मोहम्मद पर नूपुर शर्मा के बयान के खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है। मुस्लिम समुदाय के लोगों ने जुमे की नमाज के बाद यह प्रदर्शन किया है। लोग बैनर और पोस्टर लेकर पहुंचे। दिल्ली की जामा मस्जिद में पैगंबर मोहम्मद पर नूपुर शर्मा के बयान के खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है। मुस्लिम समुदाय के लोगों ने जुमे की नमाज के बाद यह प्रदर्शन किया है। बड़ी संख्या में लोग बैनर और पोस्टर लेकर पहुंचे, जिसमें नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल की तस्वीरें लगी हुई हैं। इस प्रदर्शन के बाद दिल्ली पुलिस सतर्क हो गई है और प्रदर्शनकारियों को समझा-बुझाकर घर भेजने का प्रयास किया जा रहा है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि इस बात का पहले ही अंदाजा था कि जामा मस्जिद में जुमे की नमाज के बाद कुछ हो सकता है। हालांकि इतने बड़े प्रदर्शन की उम्मीद नहीं थी।

Previous Post Next Post