मरते हुए भी दोस्ती निभा गया सिद्धू मूसेवाला, हमले के वक्त कार में मौजूद दोस्तों ने बताई


नई दिल्ली (मानवी मीडिया
पंजाब के मनसा में मारे गए पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला के साथ उस दिन कार में सफर कर रहे उसके दो दोस्तों ने हमले वाले दिन की पूरी घटना बताई है। सरदुलगढ़ के आप विधायक गुरप्रीत सिंह बनावली को मूसेवाला के साथ उसकी कार में सफर कर रहे उसके दो दोस्तों गुरविंदर सिंह और गुरप्रीत सिंह ने बताया है कि उस दिन पूरा घटनाक्रम कैसे घटा।  गुरप्रीत सिंह बनावली के मुताबिक मूसेवाला और उसके दोस्त पहले  उसकी बुलेटप्रूफ टोयोटा फॉर्च्यूनर में सफर करने की योजना बना रहे थे। फिर अचानकर उन्होंने प्लान बदल दिया क्योंकि कार में पांच लोगों के बैठने लायक जगह नहीं थी। इस दौरान मूसेवाला ने अपने साथ सिक्योरिटी गार्ड को भी नहीं रखा। 

गुरप्रीत सिंह बनावली ने मूसेवाला के दोस्तों के हवाले से बताया कि घर से निकलने के दौरान मूसेवाला ने एक गाड़ी को उनका पीछा करते देखा था। उन्हें लगा कि ये कोई फैन है जो फोटो खिंचवाने के लिए पीछे आ रहा है। मूसेवाला के साथ सफर कर रहे गुरविंदर और गुरप्रीत के मुताबिक मूसेवाला ने उन्हें चिंता ना करने को कहते हुए बताया कि उसके पास गन मौजूद है और वो हर तरह के खतरे का सामना कर सकता है। गुरविंदर और गुरप्रीत के मुताबिक दुर्भाग्यवश उस वक्त मूसेवाला की बंदूक में सिर्फ दो गोलियां थी। 

गुरविंदर और गुरप्रीत के मुताबिक हमलावरों ने मूसेवाला की गाड़ी के टायर पर गोली मारकर उसे पंचर कर दिया और फिर तीनों तरफ से गोलियों की बौछार करने लगे। मूसेवाला फिर भी नहीं घबराया और उसने अपनी पिस्तौल से फायरिंग शुरू कर दी। गुरविंदर और गुरप्रीत के मुताबिक हमलावर मूसेवाला को निशाना बनाकर गोलियां चलाते रहे। कई गोली लगने के बाद मूसेवाला गुरप्रीत पर जा गिरा जो ड्राइविंग सीट के बगल में बैठा था। मूसेवाला की वजह से गुरप्रीत की जान बच गई क्योंकि मूसेवाला के शरीर ने गुरप्रीत पर ढाल की तरह काम किया। सिद्धू मूसेवाला की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक उसे करीब 25 गोलियां लगी।


Previous Post Next Post