लर्निंग डीएल को परमानेंट कराने के लिए 90 दिन की वेटिंग खत्म


लखनऊ (मानवी मीडिया
परिवहन विभाग ने लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) को परमानेंट कराने के दौरान वेटिंग के झंझट को खत्म कर दिया है। यानी ऑनलाइन आवेदन करके अप्वाइंटमेंट (टाइम स्लॉट) हासिल करने के बाद पहले आवेदकों को 90-90 दिन डीएल बनवाने के लिए इंतजार करना पड़ता था, उससे मुक्ति मिल गई है। आवेदकों के लिए लर्निंग डीएल को परमानेंट कराना आसान हो गया।


परिवहन विभाग ने इसके लिए बीते मंगलवार को प्रदेश के 75 जिलों में स्थित संभागीय परिवहन अधिकारी एवं सहायक संभागीय परिवहन कार्यालय में परमानेंट डीएल के अप्वाइंटमेंट को पहले से बढ़ाकर दोगुने कर दिए हैं। अब जहां रोजाना 50 परमानेंट डीएल बनते थे, उसकी जगह पर 100 बनेंगे। यह नई व्यवस्था बुधवार से लागू कर दी गई है।

परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह के निर्देश पर प्रमुख सचिव (परिवहन) वेंकटेश्वर लू की अध्यक्षता में टेढ़ी कोठी स्थित कार्यालय में आयोजित बैठक में लखनऊ सहित प्रदेश भर में परमानेंट डीएल के अप्वाइंटमेंट को बढ़ाने का निर्णय लेकर 21 जून को आदेश जारी कर दिए हैं। दरअसल, प्रदेश भर से लोग परिवहन मंत्री से परमानेंट डीएल की 90-90 दिन की चल रही वेटिंग के कारण परेशानी को बयां किया था।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि अब तक प्रदेश में रोजाना लर्निंग डीएल को परमानेंट कराने के 5814 अप्वाइंटमेंट जारी होने का कोटा था। अब अप्वाइंटमेंट का ये कोटा बढ़ाकर 11,628 कर दिया गया है। इस सिलसिले में एडिशनल कमिश्नर (आईटी) डीके त्रिपाठी ने आदेश जारी कर दिए हैं।

आवेदन के दूसरे दिन का अप्वाइंटमेंट
लखनऊ परिक्षेत्र के सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी (प्रशासन) अखिलेश कुमार द्विवेदी ने बताया कि अप्वाइंटमेंट दोगुने से परमानेंट डीएल बनवाने के लिए अब वेटिंग नहीं करनी पड़ेगी। अब आवेदक जिस दिन डीएल को परमानेंट कराने के लिए ऑनलाइन आवेदन करेगा तो दूसरे दिन का ही अप्वाइंटमेंट हासिल होगा। यानी दूसरे दिन बायोमीट्रिक टेस्ट देने आने पड़ेगा। उधर, संभागीय निरीक्षक प्रशांत कुमार ने बताया कि ट्रांसपोर्टनगर आरटीओ कार्यालय का कोटा 198 से बढ़कर 396 एवं देवा रोड स्थित एआरटीओ कार्यालय का 36 से 72 हो गया है।
Previous Post Next Post