राज्य स्तरीय युवा संवाद -2.0 कार्यक्रम युवाओं एवं सरोकार से जुड़े सामाजिक कार्यकर्ताओं का सम्मेलन समापन


लखनऊ (मानवी मीडिया)राष्ट्रीय युवा पुरस्कार विजेता संघ, उत्तर प्रदेश द्वारा "राज्य स्तरीय युवा संवाद -2.0 कार्यक्रम” युवाओं एवं सरोकार से जुड़े सामाजिक कार्यकर्ताओं का सम्मेलन का आयोजन होटल बेबियन इन, लखनऊ में किया गया।

राज्य स्तरीय युवा संवाद 2.0 कार्यक्रम का उद्घाटन कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि भाजपा, प्रदेश उपाध्यक्ष बृज बहादुर, विशेष अतिथि के रूप में सदस्य विधान परिषद पवन सिंह, विद्यासागर सोनकर, भाजपा प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी, चाइल्डलाइन के निदेशक अंशुमाली शर्मा, वॉलंटरी हेल्थ एसोसिएशन के जेपी शर्मा, पूर्व विधायक राम नरेश रावत, एसकेएस के प्रबंधक अभिषेक सिंह, श्रजन फाउंडेशन के अमित सक्सेना, विशेष आमंत्रित सदस्य श्रम कल्याण परिषद रविकांत मिश्रा, गोरखपुर स्माइल रोटी बैंक के आजाद पांडे तथा राष्ट्रीय युवा पुरस्कार विजेता संघ के अध्यक्ष अजीत कुशवाहा व महासचिव रोहित कश्यप मौजूद रहे।

बतौर मुख्य अतिथि भाजपा उत्तर प्रदेश के उपाध्यक्ष ब्रज बहादुर ने कहा की युवा पीढ़ी ही देश नव निर्माण में अपनी भूमिका निभा सकता है।

विधान परिषद् तथा विधान सभा के पूर्व सदस्य और युवा पुरस्कार प्राप्त राम नरेश रावत ने अपने उद्बोधन में कहा की इस राष्ट्रीरय युवा नीति का उद्देश्य  पांच प्राथमिकता क्षेत्रों अर्थात शिक्षा, रोजगार और उद्यमिता; युवा नेतृत्वक और विकास; स्वाास्थ्यथ, फिटनेस और खेल तथा सामाजिक न्या,य में युवाओं के विकास के लिए व्यातपक कार्रवाई करना है ।

युवा संवाद कार्यक्रम में भारत सरकार से राष्ट्रीय युवा पुरस्कार तथा राज्य विवेकानंद युवा पुरस्कार प्राप्त कर्ता उपस्थित रहे। संघ के अध्यक्ष अजीत कुशवाहा ने कहा कि भारत दुनिया में सबसे अधिक युवा आबादी वाला देश है और भविष्य में देश के विकास और उत्थान में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसी मकसद से नई परिस्थितियों एवं चुनौतियों को देखते हुए उत्तर प्रदेश में युवाओं के साथ युवा संवाद कार्यक्रम किया गया। इसका उद्देश्य सामाजिक कार्यों एवं राष्ट्रहित से जुडे मुद्दो पर एकजुट होकर काम  करना हैं  उन्होंने कहा कि युवा नीति में विशेषकर 11 क्षेत्रों में काम करना है। इनमें शिक्षा, युवाओं की दक्षता, रोजगार, स्वस्थ जीवन शैली, सामाजिक मूल्यों को बढ़ाना, सामाजिक न्याय दिलाना आदि शामिल हैं।
संघ के महासचिव रोहित कश्यप ने कहा की युवा एक समूह नहीं है तथा इसके अनेकों विशेषक हैं जो रहन-सहन, पर्यावरण, इनके परिवारों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति तथा इनकी स्वयं की जीवन पद्धति पर आधारित है। राष्ट्रीय युवा नीति 2014 का मसौदा 16-30 वर्षों के विस्तृत आयु वर्ग को तीन समूहों में विभाजित करने की योजना है-पहला उपसमूह 16-20 वर्ष आयु वर्ग का होगा जो उन युवाओं को आच्छादित करेगा जिन्हें शिक्षा की सुविधा वांछित है दूसरा उपसमूह 20-25 वर्ष आयु वर्ग का होगा जिसमें रोजगार कौशल की पहुंच वांछित है। तीसरा उपसमूह 25-30 वर्ष आयु वर्ग का होगा जिसमें स्वरोजगार तथा उद्यम कौशल की पहुंच वांछित है।

राज्य विवेकानंद युवा पुरस्कार प्राप्त रविकांत मिश्रा ने  कहा कि शहर से ज्यादा अधिक युवा गांव में बसते हैं। निश्चित रूप से खेल नीति के माध्यम से युवा आगे बढेंग़े ।
जे.एस.के.एस के प्रबंधक अभिषेक सिंह ने कहा की युवा नीति में गांव से शहरों की ओर युवकों का पलायन रोकने, कौशल विकास करके रोजगार के लिए तकनीकी तौर पर दक्ष बनाने, पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक बनाने, आपदा प्रबंधन में भागीदारी बढ़ाने, राष्ट्रीय मूल्यों व सामाजिक सौहार्द की भावना पैदा करने समेत कई बिंदुओं पर फोकस किया गया है।
राज्य कार्यक्रम सलाहकार जे पी शर्मा ने कहा की भारत में हर साल 12 लाख लोग तम्बाकू से मृत होते हैं. तम्बाकू से विश्व में हर साल 80 लाख लोग मृत होते हैं. दुनिया में 70% से अधिक मृत्यु का कारण हैं गैर-संक्रामक रोग (जिनमें हृदय रोग, पक्षाघात, मधुमेह (डायबिटीज), दीर्घकालिक श्वास रोग आदि) जिनका जानलेवा खतरा तम्बाकू सेवन बढ़ाता है. दुनिया के सबसे घातक संक्रामक रोग (टीबी) का खतरा भी तम्बाकू बढ़ाता है.

इस कार्यक्रम में राष्ट्रीय युवा पुरुस्कार विजेता सुल्तानपुर सत्यनाथ पाठक , बाराबंकी राम नरेश रावत , मेरठ देवभास्कर पाण्डेय, डॉ० प्रयागराज रंजना त्रिपाठी, आगरा ओम प्रकाश राजपूत ,प्रयागराज हरकीरत सिंह, वाराणसी डॉ० हेमंत कुमार यादव,लखनऊ अजीत कुमार, रोहित कुमार कश्यप ,फरुखाबाद डॉ मृत्युंजय द्विवेदी , औरैया नेहा कुशवाहा तथा राज्य विवेकानंद यूथ एवॉर्ड विजेता गोरखपुर कृष्ण पांडेय 'आज़ाद' ,फतेहपुर रविकांत मिश्रा,अम्बेडकर नगर प्रवीण गुप्ता, गाज़ियाबाद सागर कसाना , लखनऊ अंकित मौर्य , प्रतापगढ़ श्लोक मिश्र , फ़िरोज़ाबाद अश्विनी कुमार राजोरिया,संत कबीर नगर बिपिन जायसवाल ,सिद्धार्थनगर मोनी वर्मा,मऊ यतीन्द्र पति पांडेय, देवरिया उत्कर्ष नमो वत्स मिश्र उपस्थित रहें।
Previous Post Next Post