SHO ने नाबालिग से थाने में किया दुष्कर्म


प्रयागराज (मानवी मीडिया)- उत्तरप्रदेश में पुलिस की वर्दी को दागदार करने का मामला सामने आया। जहां एक एसएचओ ने एक किशोरी के साथ दुष्कर्म किया है। इस मामले में एसएचओ को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव आज पीड़िता के परिवार से मिलने पहुंचे।

ललितपुर के थाना पाली अंतर्गत एक मोहल्ला निवासी किशोरी के साथ एसएचओ ने दुष्कर्म किया। एसएचओ तिलकधारी सरोज को प्रयागराज से गिरफ्तार कर लिया गया है।

सामूहिक दुष्कर्म का शिकार हुई एक किशोरी के साथ पाली के थानाध्यक्ष ने थाना परिसर में बने अपने कमरे में ले जाकर दुष्कर्म किया। किशोरी को बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया गया था। एसओ के कहने पर किशोरी की मौसी ही उसे थाने में लेकर पहुंची थी। चाइल्ड लाइन में काउंसलिंग के बाद घटना का खुलासा हुआ। एसपी ने थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया है। एसओ समेत चार युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

अखिलेश यादव ने पीड़ित परिवार से की मुलाकात 
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पीड़िता के परिवार से मुलाकात की। परिवार से मिलने के बाद अखिलेश ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि इस सरकार में हाथरस की पीड़िता को भी न्याय नहीं मिला। उन्होंने सरकार से सवाल करते हुए पूछा कहां है पिंक पुलिस? क्या अब थाने पर बुल्डोजर चलेगा? कस्टोडियल डेथ में यूपी पुलिस सबसे आगे है।

कानपुर जोन के एडीजी भानु भास्कर ने दुष्कर्म मामले में एसओ की संलिप्तता के बाद पूरे पाली थाने को लाइन हाजिर कर दिया। बुधवार सुबह एडीजी ने यह आदेश जारी किया। उन्होंने डीआईजी जोगेंद्र कुमार को पूरे मामले की जांच सौंपते हुए 24 घंटे के भीतर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं। थाने के जो स्टाफ लाइन हाजिर किए गए हैं उनमें 6 एसआई, 6 हेड कांस्टेबल, 10 आरक्षी, 5 महिला आरक्षी, 1 चालक और 1 फालोवर शामिल हैं।

Previous Post Next Post