शाहीन बाग में बुलडोजर के विरोध के मामले में SDMC के महापौर ने कार्रवाई के लिए लिखा पत्र


नई दिल्ली (मानवी मीडियादक्षिण दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) के महापौर मुकेश सूर्यान ने शाहीन बाग में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई में बाधा उत्पन्न करने को लेकर कुछ राजनीतिक दलों के नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए पत्र लिखा है। दरअसल, इस मामले में एफआईआर दर्ज कराने के लिए महापौर को दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष की तरफ से एक पत्र प्राप्त हुआ है।

महापौर ने बताया कि शाहीन बाग में नौ मई 2022 को दक्षिण दिल्ली नगर निगम द्वारा पहले से निश्चित किए गए अवैध अतिक्रमण की कार्रवाई को कुछ राजनीतिक नेताओं द्वारा सरकारी कार्रवाई को बाधित किया गया है।

उन्होंने कहा कि मेरे संज्ञान में आया है कि शाहीन बाग में वहां के विधायक मोहम्मद अमानतुल्लाह खान तथा निगम पार्षद मोहम्मद अब्दुल वाजिद खान ने सरकारी कार्रवाई में बाधा डालने का कार्य किया है। पत्र में उन्होंने कहा कि इस विषय में संज्ञान लेकर निगम द्वारा संबंधित व्यक्तियों के खिलाफ उचित कार्रवाई करते हुए उनके खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने के संबंध में विभाग द्वारा एफआईआर दर्ज कराए जाए।

शाहीन बाग से बिना कार्रवाई के लौटा बुलडोजर 

बता दें कि, शाहीन बाग में सोमवार को अतिक्रमण पर कार्रवाई के लिए गए नगर निगम के बुलडोजर को बैरंग ही लौटना पड़ा। अतिक्रमण रोधी अभियान को अंजाम देने के लिए एसडीएमसी के दस्ते के पहुंचते ही महिलाओं सहित सैकड़ों स्थानीय लोगों ने विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिया था। प्रदर्शनकारियों ने भाजपा शासित एसडीएमसी और केन्द्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और कार्रवाई रोकने की मांग की। कुछ महिलाएं बुलडोजर के सामने आकर खडी़ हो गईं।

आम आदमी पार्टी (आप) और कांग्रेस के नेता भी मौके पर पहुंचे और कार्रवाई के विरोध में सड़क पर बैठ गए। इस विरोध प्रदर्शन के कारण शाहीन बाग, कालिंदी कुंज, जैतपुर, सरिता विहार और मथुरा रोड सहित अन्य क्षेत्रों में भारी जाम लग गया था। विरोध प्रदर्शन के चलते अवैध निर्माणों और अतिक्रमणों को नहीं हटाया जा सका और निगम का बुलडोजर बिना चले ही वापस लौट गया।


Previous Post Next Post