अजय कुमार शर्मा बने बजाज हिंदुस्तान शुगर लिमिटेड के नए प्रबंध निदेशक

मुंबई (मानवी मीडिया) बजाज हिंदुस्तान शुगर लिमिटेड (बीएचएसएल) के निदेशक मंडल ने २० मई, २०२२ को हुई अपनी बैठक में  अजय कुमार शर्मा को कंपनी का प्रबंध निदेशक (एमडी) नियुक्त किया है। शेयरधारकों की मंजूरी के अधीन, तुरंत से प्रभावी एमडी के रूप में  शर्मा की नियुक्ति पांच साल की अवधि के लिए निर्धारित की गयी है।

 शर्मा की नियुक्ति  आलोक कुमार वैश्य के स्थान पर हुई है जिन्होंने सप्ताह की शुरुआत में व्यक्तिगत कारणों के चलते बीएचएसएल के प्रबंध निदेशक पद का परित्याग कर दिया था। आज अपनी बैठक के दौरान, बीएचएसएल बोर्ड ने श्री वैश्य का त्यागपत्र स्वीकार करते हुए उन्हें तत्काल प्रभाव से कंपनी की सेवाओं से मुक्त करने का निर्णय लिया।

नियुक्ति पर टिप्पणी करते हुए, बीएचएसएल के अध्यक्ष और गैर-कार्यकारी निदेशक  कुशाग्र बजाज ने कहा, "अजय का ट्रैक रिकॉर्ड और उनकी कार्य क्षमता बीएचएसएल को न केवल एक प्रभावी नेतृत्व देगी बल्कि हमारे सभी स्टेकहोल्डर्स के लिए बेहतर वैल्यू निर्मित करेगी। चीनी व्यवसाय के बारे में उनका गहरा ज्ञान, निष्पादन-मानसिकता, और जन-केंद्रित सोच उन्हें कंपनी को विकास की ओर वापस लाने और उसकी दीर्घकालिक सफलता सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। अजय के इस नए रोल में मैं उनके साथ काम करने को लेकर उत्साहित हूं।"

 बजाज ने निवर्तमान एमडी  आलोक कुमार वैश्य को बीएचएसएल में उनकी लंबी सेवा व महत्वपूर्ण योगदान के लिए धन्यवाद दिया और उनके उज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं।

नई भूमिका में पदोन्नत होने से पहले, ५५ वर्षीय  शर्मा ने छह साल तक बीएचएसएल की बिलाई यूनिट के प्रमुख के रूप में कार्य किया है। वहां, गन्ना खरीद और विकास, आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन और संचालन में उनकी विशिष्ट महारत के चलते यूनिट के "कट-टू-क्रश" समय में उल्लेखनीय कमी आई और समग्र प्रदर्शन में सुधार हुआ। इसके अतिरिक्त, उनके कार्यकाल के दौरान यूनिट ने लगातार २०१८-१९, २०१९-२०, और २०२०-२१ सीज़न्स के लिए अब तक की सबसे बढ़िया रिकवरी दर्ज की और संयंत्र की लागत क्षमता, प्रक्रियाओं और परिचालन में व्यापक सुधार देखे

अपनी नियुक्ति पर बात करते हुए,  शर्मा ने कहा, “बीएचएसएल आज भी अपने क्षेत्र में अपने मजबूत फंडामेंटल्स और असाधारण प्रतिभा के साथ अग्रणी बनी हुई है। यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है कि मुझे इस प्रतिष्ठित कंपनी का नेतृत्व करने का उत्तरदायित्व मिला है। मैं बीएचएसएल बोर्ड और कम्पनी अध्यक्ष को इस विश्वास के लिए धन्यवाद देता हूं और आने वाले दिनों में अपने सभी सहयोगियों के साथ मिलकर कंपनी की क्षमताओं को मजबूत करने और बेहतर निष्पादन के ज़रिये सभी स्टेकहोल्डर्स के लिए बेहतर वैल्यू जुटाने का प्रयास करूँगा।”

कृषि में मास्टर्स और एलएलबी उपाधि अर्जित करने वाले श्री शर्मा के पास तीस से अधिक वर्षों का कार्यानुभव है। बीएचएसएल से पहले वे त्रिवेणी इंजीनियरिंग वर्क्स, एसबीईसी (मोदी ग्रुप), आरबीएनएस शुगर, मवाना शुगर और मोदी शुगर सहित कई नामी चीनी कंपनियों में महत्वपूर्ण पदों पर काम कर चुके हैं।

बजाज हिंदुस्तान शुगर लिमिटेड (बीएचएसएल) के बारे में:

बजाज हिंदुस्तान शुगर लिमिटेड (बीएचएसएल) भारत की सबसे बड़ी और दुनिया की चौथी सबसे बड़ी एकीकृत चीनी कंपनी है, जिसकी कुल गन्ना पेराई क्षमता 136,000 टन प्रति दिन (टीसीडी) और अल्कोहल आसवन क्षमता 800 किलो लीटर प्रति दिन (केएलडी) है। उत्तर प्रदेश (यूपी) में १४ मिलों के साथ, बीएचएसएल भारत के सबसे पुराने और बड़े चीनी मिलों के नेटवर्क का संचालन करती है और दशकों से अपने क्षेत्र में मार्केट लीडर के रूप में स्थापित है। चीनी के अलावा, बीएचएसएल भारत में इथेनॉल का अग्रणी उत्पादक भी है, जो तेजी से विकसित हो रहे ऊर्जा बाजार के परिदृश्य में एक "गेम-चेंजर" साबित होने और पूरे देश की ऊर्जा के पार्श्वचित्र को बदल देने की ओर अग्रसर है।

 

Previous Post Next Post