कार्यों की प्रगति न होने पर संबंधित अधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर होगी सख्त कार्रवाई


लखनऊ (मानवी मीडिया)उत्तर प्रदेश के नगर विकास, शहरी समग्र विकास, नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन मंत्री  ए.के. शर्मा ने प्रदेश के सभी नगर निकायों में नगरीय सुविधाओं को बढ़ाने तथा शहरों को सुन्दर बनाने के लिए चलाये जा रहे 60 दिवसीय विशेष अभियान के क्रियान्वयन की प्रगति जानने के लिए लखनऊ, अलीगढ़ एवं गोरखपुर नगर निकायों के प्रगति कार्यों की वर्चुअल समीक्षा की।

इस दौरान उन्होंने संबंधित नगर निकायों के नगर आयुक्तों को 60 दिवसीय विशेष अभियान के प्रभावी क्रियान्वयन तथा मौके पर जाकर कार्य की वास्तविकता परखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विशेष अभियान में नगरों की प्रातःकालीन 05 बजे से 08 बजे के बीच तथा सायंकालीन 04 से 08 बजे के बीच की जा रही सफाई व्यवस्था एवं कूड़े उठान की नियमित मॉनीटरिंग की जाए, कहीं पर भी गन्दगी व कूड़े का ढेर न दिखे। उन्होंने निर्देशित किया कि बरसात के दौरान पानी की निकासी के लिए नाले-नालियों की सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए, जिससे कहीं पर भी जलभराव की स्थित न बने और लोगों को संक्रामक बीमारियों की चपेट में न आना पड़े, इसके लिए साफ पानी की आपूर्ति पर भी ध्यान दिया जाए। उन्होंने नियमित रूप से डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन, कूड़ा उठान करने एवं सीवर आदि की सफाई के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लोगों को विभाग की योजनाओं का लाभ मिले इसके लिए योजनाओं को जमीनी स्तर पर उतारा जाए।

नगर विकास मंत्री ने नगरों के सौन्दर्यीकरण के लिए खाली स्थानों पर पौधे एवं घास लगाने तथा चौराहों के सौन्दर्यीकरण के साथ सड़कों पर लेन पेन्टिंग एवं जेब्रा क्रासिंग के कार्य को तीब्र गति से संचालित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नगरीय निकायों के सुगम यातायात के लिए चौराहों का चौड़ीकरण किया जाए, फूटपाथ ठीक कराये जाएं और अव्यवस्थित चौराहों को पीपीपी मॉडल पर विकसित कराया जाए। उन्होंने अमृत सरोवर योजना के तहत शहरों के तालाबों का अनुरक्षण एवं सौन्दर्यीकरण किये जाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विशेष अभियान के दौरान दिए गए लक्ष्य के अनुरूप कार्यों की प्रगति न पाये जाने पर संबंधित अधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर इनकेे खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।


Previous Post Next Post