रेडक्रॉस सोसाइटी की योजनाओं के संचालन के लिए प्रदेश को केंद्र से समुचित बजट मिले--आनंदीबेन पटेल


लखनऊः (मानवी मीडिया)उत्तर प्रदेश की राज्यपाल  आनंदीबेन पटेल ने आज यहां राजभवन स्थित प्रज्ञाकक्ष, लखनऊ से इण्डियन रेडक्रास सोसाइटी नई दिल्ली की वार्षिक बैठक में ऑनलाइन प्रतिभाग किया। राज्यपाल जी ने बैठक में बतौर अध्यक्ष इण्डियन रेडक्रास सोसाइटी उत्तर प्रदेश, राज्य शाखा सम्बोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश, देश की सबसे बड़ी जनसंख्या वाला प्रदेश है, यहां रेडक्रास सोसाइटी की योजनाओं के समुचित संचालन के लिए केन्द्र से समुचित बजट की आवश्यकता है। उन्होंने पहले से संचालित कुछ योजनाओं के बजट प्राप्ति की अपेक्षा को भी बैठक में अवगत कराया। विभिन्न विभागों के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश में टी.बी. उन्मूलन, पोषण मिशन के कार्य, रक्त संग्रहण तथा प्लाज्मा संग्रहण की दिशा में किए जा रहे कार्यों का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश में विश्वविद्यालयों को रक्त-दान और प्लाज्मा दान के लिए विद्यार्थियों को प्रोत्साहित कराने के कार्य से जोड़कर बड़े स्तर पर ये कार्य किया जा रहा है। रक्त संग्रहण एक बड़ी आवश्यकता है। उन्होंने प्रदेश में रेडक्रास सोसाइटी के ब्लड बैंक की आवश्यकता को भी महत्वपूर्ण बताया। 

राज्यपाल ने बैठक में टी.बी. उन्मूलन के लिए किये जा रहे कार्यों का विशेष उल्लेख करते हुए कहा कि प्रदेश से टी.बी. उन्मूलन के लिए टी.बी. रोगियों को उनके स्वस्थ होने तक पोषण और चिकित्सा की समुचित देखभाल के लिए सक्षम संस्थाओं, इकाइयों, महानुभावों अधिकारियों द्वारा गोद लेने की परम्परा प्रदेश से क्षय रोग उन्मूलन तक जारी रहेगी। बैठक में इण्डियन रेडक्रास सोसाइटी, नई दिल्ली के अध्यक्ष राष्ट्रपति महोदय के प्रतिनिधि के तौर पर अध्यक्षता कर रहे केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ0 मनसुख मंडाविया ने उत्तर प्रदेश की राज्यपाल द्वारा क्षय रोग उन्मूलन के लिए प्रदेश में चलाए जा रहे अभियान को पूरे देश के लिए अनुकरणीय बताया। उन्होंने कहा उनका यह कार्य प्रेरणा देता है कि राज्यपाल द्वारा जनभागीदारी और जनसहयोग से एक बड़े अभियान का सफल संचालन किया जा सकता है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने रेेडक्रास सोसाइटी को अपने सीमित दायरे से बाहर आकर क्षय रोग उन्मूलन हेतु देश व्यापी अभियान में जुड़ने का आह्वान किया। उन्होंने रेडक्रॉस के सदस्यों को उत्तर प्रदेश की राज्यपाल के अभियान का अनुकरण करने और टी.बी. के रोगियों के घर जाकर उनके पोषण और दवाइयों की समुचित जानकारी और उपलब्धता कराने का कार्य करने को कहा। उन्होंने रेडक्रास सोसाइटी में नवयुवकों की सदस्यता बढ़ाने के लिए भी चर्चा की।

बैठक में सभी राज्यों के राज्यपाल उनके प्रतिनिधि, इण्डियन रेडक्रास सोसाइटी के सम्मानित अतिथिगण, संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

Previous Post Next Post