दरोगा ने महिला को निर्वस्त्र कर रात


ललितपुर (मानवी मीडियाआरोप है कि पुलिस कर्मी के साथ महिला दरोगा ने उसे निर्वस्त्र कर बेल्ट से पीटा। मामला तूल न पकड़े इसलिए पीड़िता को थाने ले जाया गया, जहां पति-पत्नी के बीच विवाद बताकर शांतिभंग में कार्रवाई कर दी।

ललितपुर के महरौनी थाना पुलिस कर्मी ने चोरी के शक में महिला को कमरे पर ले जाकर थर्ड डिग्री का प्रयोग किया। आरोप है कि उसके कुछ न बता पाने पर पुलिस कर्मी के साथ महिला दरोगा ने उसे निर्वस्त्र कर बेल्ट से पीटा। जिसके निशान महिला के शरीर पर पड़े हैं। मामला तूल न पकड़े इसलिए पीड़िता को थाने ले जाया गया, जहां पति-पत्नी के बीच विवाद बताकर शांतिभंग में बीमार पति सहित उसके खिलाफ कार्रवाई कर दी। पीड़िता परिजनों के साथ गाड़ी में लेटकर एसपी कार्यालय पहुंची और दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।


थाना महरौनी अंतर्गत एक मोहल्ला निवासी महिला (30) ने एसपी को दिए प्रार्थनापत्र में बताया कि थाने में तैनात पुलिस कर्मी अंशू पटेल(मुंशी के पद पर) के मकान में वह 14 अप्रैल से खाना बनाने और कमरे मेंझाड़ू-पोछा लगाने का काम करती है। दो मई की सुबह का खाना बनाने के बाद वह घर लौट आई। शाम को खाना बनाने पहुंची तो अंशु पटेल की पत्नी ने कमरे का दरवाजा बंदकर उसे बैठा लिया। इसके बाद मोबाइल से कॉल कर पति अंशू को बुलाया।

बिजली बंद कर, पानी डालकर और निवस्त्र कर बेल्ट से पीटा
अंशू अपने साथ महिला दरोगा पारुल चंदेल को लेकर अंदर आया। उससे चोरी के संबंध में पूछताछ करने लगा। उसने खुद को निर्दोष बताया तो अंशू और महिला दरोगा ने रात आठ बजे से बिजली बंद कर, पानी डालकर और निवस्त्र कर बेल्ट से उसे पीटना शुरू कर दिया। मारपीट के दौरान अंशू ने बताया कि एक तांत्रिक का कहना है कि काम करने वाली महिला ने चोरी की है। चोरी कबूल करने की धमकी देते हुए गालियां दीं। इसके बाद उसके बीमार पति को बुलाकर थाने ले गए, वहां भी दोनों के साथ मारपीट की। 

कमरे पर ले जाकर रातभर मारपीट की
आरोप है कि महिला के पति को कोतवाली ले जाकर हवालात में बंद कर दिया, जबकि पत्नी को कमरे पर ले जाकर रातभर मारपीट की। इससे महिला के पूरे शरीर पर चोटें आ गईं। महिला की हालात गंभीर देख पुलिस ने मामले को पति पत्नि के झगड़े में बताकर धारा 151 में चालान कर दिया।

गुहार लगाने व मिन्नतें करने के बाद भी नहीं पसीजे पुलिस कर्मी
महिला ने बताया कि उसके साथ मारपीट होने के समय मंगल सिंह, रजनी नामदेव व महेश मौके पर ही मौजूद थे। उन्होंने पुलिस कर्मियों से छोड़ने के लिए काफी गुहार लगाई, लेकिन पुलिस कर्मियों का दिल नहीं पसीजा। महिला बेल्ट की पिटाई से चिल्लाती रही, लेकिन तांत्रिक का भरोसा कर महिला व पुरुष पुलिस कर्मी दोनों ने बेल्ट से मारपीट की।
 

शक में पत्नी को बंधक बनाकर मारपीट की

पत्नी गंभीर बीमारी से ग्रसित है, इससे कार्य करने में असमर्थ है। लेकिन परिवार का पालन पोषण करने के लिए खाना बनाने का काम करती है। थाने के एक पुलिस कर्मी के यहां खाना बनाती है। कुछ दिन पूर्व पुलिस कर्मी के यहां चोरी हो गई थी। जिसके शक में पत्नी को बंधक बनाकर मारपीट की। इसके बाद थाने ले गए, वहां भी जमकर मारपीट की। हालत गंभीर होने पर पुलिस ने मामले को दोनों के बीच झगड़ा बताकर धारा 151 में चालान कर दिया।- (पीड़िता का पति)

कस्बा महरौनी के मोहल्ला खरवांचपुरा निवासी महिला जो आरोप लगा रही है, वो गलत हैं, मैं इस मामले में कुछ नहीं जानता। अंशु पटेल, पुलिस कर्मी

थाना महरौनी पुलिस द्वारा एक महिला के साथ मारपीट करने का मामला संज्ञान में आया है, जिसकी जांच कराई जाएगी। दोषियों पर कार्रवाई होगी। पीड़ित पक्ष को न्याय दिलाया जाएगा।- जोगिंदर सिंह, पुलिस उप महानिदेशक

Previous Post Next Post