जीएसटी राजस्व संग्रह में 16% की वृद्धि, 7,355 करोड़ रुपये से बढ़कर 8,534 करोड़ रुपये हुआ


लखनऊ  (मानवी मीडिया) जीएसटी राजस्व संग्रह में वृद्धि के प्रतिशत के मामले में, यूपी केरल, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और झारखंड जैसे राज्यों से बहुत आगे है। राज्य ने कोविड महामारी से उत्पन्न अनेक चुनौतियों के बावजूद सरकार द्वारा प्रभावी वित्तीय प्रबंधन के माध्यम से इस उपलब्धि को
हासिल करने में कामयाबी हासिल की है।

उत्तर प्रदेश ने 2021 में अप्रैल  2021 की तुलना में अप्रैल 2022 में अपने जीएसटी राजस्व में 16 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है। आधिकारिक आंकड़ों से यह जानकारी मिली है। अप्रैल, 2021 में यूपी का जीएसटी राजस्व 7,355 करोड़ रुपये था जबकि अप्रैल, 2022 में यह बढ़कर 8,534 करोड़ रुपये हो गया है। 


आंकड़ों के अनुसार, राज्यों के बीच कुल जीएसटी राजस्व संग्रह के मामले में यूपी देश में पांचवें स्थान पर है। यह सरकार के बेहतर वित्तीय प्रबंधन का नतीजा माना जा रहा है।  जीएसटी संग्रह में महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक और तमिलनाडु के बाद यूपी का स्थान है।


जीएसटी राजस्व संग्रह में वृद्धि के प्रतिशत के मामले में, यूपी केरल, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और झारखंड जैसे राज्यों से बहुत आगे है। राज्य ने कोविड महामारी से उत्पन्न अनेक चुनौतियों के बावजूद सरकार द्वारा प्रभावी वित्तीय प्रबंधन के माध्यम से इस उपलब्धि को हासिल करने में कामयाबी हासिल की है।

Previous Post Next Post