मुख्यमंत्री योगी ने गीडा, गोरखपुर में 143.69 करोड़ रु0 की परियोजनाओं का किया लोकार्पण एवं शिलान्यास

 

लखनऊ: (मानवी मीडिया)उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने आज जनपद गोरखपुर के गीडा कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में 143.69 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का लोकार्पण तथा शिलान्यास किया। इन परियोजनाओं में लगभग 67.86 करोड़ रुपये लागत की लोकार्पित तथा 75.83 करोड़ रुपये लागत की शिलान्यास की गई परियोजनाएं शामिल हैं। उन्होंने 06 नई निवेश परियोजनाओं के लिए आवंटित 45.5 एकड़ के भूखण्डों के आवंटन पत्र विभिन्न उद्यमियों को प्रदान किये। इसके अलावा, गारमेन्ट क्लस्टर के 56 भूखण्डों के आवंटियों को आवंटन पत्र भी प्रदान किये।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि आज यहां विभिन्न परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास के साथ ही, जनपद गोरखपुर समेत पूर्वी उत्तर प्रदेश के नौजवानों को रोजगार व नौकरी के अवसर सुलभ कराने हेतु व्यापक निवेश और भूमि आवंटन का कार्यक्रम आयोजित किया गया है। इन विकास परियोजनाओं के माध्यम से 1000 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश होगा। इससे 2,500 से अधिक नौजवानों को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। उन्होंने कहा कि जनपद गोरखपुर के लिये यह महत्वपूर्ण कार्यक्रम है। इसमें मेसर्स सी0पी0 मिल्क प्रोडेक्ट प्रा0लि0 सहित अन्य इकाइयों को भी निवेश के लिए भूमि आवंटन करने का कार्य हुआ है।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  ने वर्ष 2024 तक देश की अर्थव्यवस्था को 05 ट्रिलियन डॉलर का बनाने का लक्ष्य रखा है। उत्तर प्रदेश देश का सर्वाधिक आबादी वाला राज्य है। उत्तर प्रदेश प्रधानमंत्री की अपेक्षाओं के अनुरूप अपनी अर्थव्यवस्था को नई ऊँचाई तक पहुंचाने में सफल हो सके, इसके लिए निवेश की सम्भावनाओं को आगे बढ़ाने के लिए हम सबको मिलकर प्रयास करना होगा। निवेश की बुनियादी शर्त सुरक्षा और कानून व्यवस्था की बेहतर स्थिति है। प्रदेश की अर्थव्यवस्था में हो रहा तीव्र विकास देश में एक नजीर के रूप में स्थापित हो रहा है। विगत पांच वर्षाें में राज्य में प्रत्येक नागरिक की सुरक्षा और प्रदेश की कानून व्यवस्था को बेहतर बनाए रखने के लिए जो कदम उठाए गये हैं, उसके अपेक्षित परिणाम पूरे देश के सामने आ रहे हैं।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि कोई भी अपनी आस्था किसी पर थोप नहीं सकता। इसलिए राज्य सरकार ने तय किया कि किसी भी धर्म स्थल पर माइक की ध्वनि उसके परिसर से बाहर नहीं आनी चाहिए। इसके फलस्वरूप प्रदेश में एक लाख से अधिक लाउडस्पीकर धर्मस्थलों से या तो उतर गये हैं या उनकी आवाज धीमी होकर उनके परिसर तक ही सीमित हो गई है। यह बताता है कि उत्तर प्रदेश एक नई आभा के साथ विकास की नई बुलंदियों को छूने के लिए तत्पर है। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों, शासन-प्रशासन तथा राज्य की 25 करोड़ की जनता के सहयोग से  प्रधानमंत्री की मंशा के अनुरूप प्रदेश की अर्थव्यवस्था को एक ट्रिलियन डॉलर की बनाने में बहुत देर नहीं लगेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गोरखपुर विकास की एक नई कहानी लिख रहा है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का जो लिंक-वे है, वह गोरखपुर को इसी गीडा में जैतपुर के साथ जोड़ रहा है। पूर्वी उत्तर प्रदेश के नौजवानों को नौकरी या रोजगार के लिये राज्य के बाहर न जाना पड़े बल्कि उन्हें अपने क्षेत्र में, अपने जनपद में, नौकरी या रोजगार उपलब्ध हो सके, इसके लिए जगह-जगह औद्योगिक क्लस्टर स्थापित किये जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि वर्तमान में गीडा को उद्योगों की स्थापना के अनेक प्रस्ताव प्राप्त हो रहे हैं। गीडा की स्थापना 40 साल पहले हुई थी, लेकिन विकास हमारी सरकार ने शुरू किया। आज गोरखपुर से माफियाओं का सफाया हो गया है। यहां माफिया का सफाया कर कानून व्यवस्था का राज स्थापित किया गया है। बुनियादी सुविधाओं को लेकर जो शिकायतें थीं, उसे दूर किया गया है। यहां गारमेण्ट क्लस्टर के साथ ही फ्लैटेड फैक्ट्री का भी अभिनव प्रयोग किया जा रहा है। फ्लैटेड फैक्ट्री में एक ही स्थान पर तमाम उद्यमी अपने उद्यम स्थापित कर सकेंगे। इससे हजारों नौजवानों व महिलाओं को रोजगार मिलेगा। यहां की ऊर्जा और पूंजी का इस्तेमाल अब यहीं हो सकेगा। गीडा में प्लास्टिक पार्क की योजना मूर्त रूप लेने जा रही है। आई0टी0 पार्क के लिए भूमि आवंटन का कार्य आगे बढ़ चुका है।

इस अवसर पर सांसद  रवि किशन,  कमलेश पासवान,  जय प्रकाश निषाद, गोरखपुर के महापौर  सीताराम जायसवाल सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त  अरविन्द कुमार, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं एम0एस0एम0ई0  नवनीत सहगल सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


Previous Post Next Post