योगी २.० सरकार में रक्षा उद्योग को और मज़बूत बनाएँगे: अवनीश अवस्थी

सीआईआई उत्तरी क्षेत्र को 2022-23 के लिए नए पदाधिकारी मिले 

अंशुमन मैगज़ीन ने सीआईआई उत्तरी क्षेत्र के अध्यक्ष का पदभार संभाला 

दीपक जैन उपाध्यक्ष निर्वाचित 

अंशुमन मैगज़ीन सीबीआरई में भारत, दक्षिण पूर्व एशिया, मध्य पूर्व और अफ्रीका के अध्यक्ष और सीईओ हैं 

 दीपक जैन, ल्यूमैक्स इंडस्ट्रीज लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हैं 


लखनऊ (मानवी मीडिया) अंशुमन मैगज़ीन और दीपक जैन को 2021-22 के लिए सीआईआई उत्तरी क्षेत्र का क्रमश अध्यक्ष और उपाध्यक्ष चुना गया है। नवनिर्वाचित क्षेत्रीय परिषद सदस्यों की पहली बैठक के दौरान पदधारियों का चुनाव किया गया ।  मुंजाल सीआईआई उत्तरी क्षेत्र के प्रमुख होंगे जिसमें 7 राज्य - उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड और 3 केंद्र शासित प्रदेश - चंडीगढ़, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख शामिल हैं । 

सी आई आई उत्तरी क्षेत्र के इस वार्षिक अधिवेशन के दौरान ही एसआईडीएम तथा यूपीडा के साथ सम्मिलित रूप से डिफेन्स एवं एयरोस्पेस पर एक विशेष सत्र का आयोजन किया गया |  


सभा को सम्बोधित करते हुए  अवनीश अवस्थी, अपर प्रमुख सचिव तथा मुख्य कार्यकारिणी अधिकारी यूपीडा की निवेषोन्मुखी नीतियों के कारण झाँसी नोड में बीडीएल तथा लखनऊ नोड में ब्रह्मोस जैसी कंपनियों का आगमन संभव होसका है | उन्होंने ये भी बताया की उत्तर प्रदेश डिफेन्स कॉरिडोर को राष्ट्रिय अधोरचना विकास के दृष्टिकोण से भी महत्वपूर्ण रूप से देखा जारहा है जिसके लिए योगी सरकार ने एक विशेष बजट का प्रावधान किया है | उन्होंने यह भी बताया की इस महीने की १५ तारिख को उन्होंने इस विषय पर आई आई टी कानपूर के साथ किये गए एमओयू को अगले ३ वर्षो के लिए बढ़ा दिया है जिसके तहत एक कॉमन फैसिलिटी सेंटर की भी योजना है | उन्होंने मौजूद सभी उद्योगपतियों से आग्रह किया की जिन्होंने ने भी इस कॉरिडोर में भूमि ली है वे शीघ्र अतिशशीघ्र अपना निर्माण कार्य प्रारम्भ कर इन परियोहनाओ का लाभ उठा सके | 


एस पी शुक्ला, अध्यक्ष, एस आई डी एम् तथा समूह अध्यक्ष, महिंद्रा ग्रुप ने बताया की भारत पूर्व में आवश्यक रूप से रक्षा उत्पादों का आयातक रहा है किन्तु हाल ही में सरकार द्वारा रक्षा क क्षेत्र में किये गए अथक प्रयासों क कारण निश्चित रूप से रक्षा उत्पादों का प्रमुख उत्पादक के रूप में उभर रहा है | उन्होंने बताया की प्रौद्योगिकी में निपुणता के साथ-साथ प्रत्योगी मूल्य तथा संरचना में दक्षता के बल पर ही भारतीय कंपनियां वैश्विक स्तर पर अलग पहचान मिल पायेगी | 


अपने सम्बोधन में  सचिन अग्रवाल, स्टेट अध्यक्ष, एसआईडीएम यूपी एवं सीएमडी पीटीसी इंडस्ट्रीज ने बताया की हाल ही में रूस पर लगे प्रटबन्धों का सीधा लाभ भारत को मिल सकता है जिससे की वैश्विक स्तर पर रक्षा सप्लाई चैन प्रणाली में भारत एक प्रमुख उत्पादक के रूप में अपना स्थान सुनिश्चित कर सकता है | 


अपने अभिभाषण में  मनोज गुप्ता, अध्यक्ष, सीआईआई उत्तरी क्षेत्र-डिफेन्स एवं एयरोस्पेस समिति तथा अध्यक्ष एमकेयू लिमिटेड ने बताया की वर्ष २०२१-२२ में रक्षा क्षेत्र पे किया गया व्यय पिछले वर्ष के मुकाबले १९% अधिक है | हाल ही में की गयी घोषणायें जैसे की डिफेन्स एक्वीजीशन कौंसिल (DAC ) तथा कैबिनेट समिति सिक्योरिटी (CCS ) आदि का गठन जिससे की भारत में निर्मित स्वदेशी LCA विमान की विनिर्माण को त्वरित स्वीकृति प्रदान की जासके, यह सभी कदम सरकार के आत्म-निर्भर सुरक्षा प्रणाली को और मज़बूत करने की मंशा को दर्शाता है |        

इस वार्षिक अधिवेशन में बैंकिंग क्षेत्र, रक्षा, शैक्षणिक और अन्य प्रसिद्ध अनुसंधान संस्थानों से जुड़े दिग्गजों ने भी हिस्सा लिया।

Previous Post Next Post