श्रमिक दिवस पर श्रमिकों को धार्मिक पर्यटन यात्रा करायी जायेगी- : सुनील भराला


लखनऊ, (मानवी मीडिया)उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण परिषद की 84वीं बोर्ड की बैठक में श्रम कल्याण परिषद के अध्यक्ष  सुनील भराला  ने कहा कि परिषद को गतिशील बनाने एवं श्रमिकों के कल्याण के लिए परिषद के अन्तर्गत संचालित योजनाओं के प्रचार-प्रसार के उद्देश्य से प्रदेश के प्रत्येक मण्डल एवं जनपद स्तर पर बोर्ड के सदस्यों द्वारा समीक्षा की जाए, जिससे योजनाओं का लाभ अधिक से अधिक श्रमिक परिवारों को दिलाया जा सके।

 सुनील भराला  आज बापू भवन सचिवालय में बोर्ड की बैठक कर रहे थे। उन्होंने सचल चिकित्सा वाहनों के क्रय एवं संचालन तथा स्वास्थ्य शिविरों के आयोजन के सम्बंध में प्रस्ताव पर चर्चा करते हुए वित्तीय आंकलन रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने महिला श्रमिकों को स्वावलम्बी बनाने तथा उनके जीवन स्तर में सुधार हेतु स्व0 सुषमा स्वराज महिला सशक्तीकरण श्रमिक महिला कल्याण योजना की रूपरेखा तैयार किये जाने के सम्बंध में गठित समिति की रिपोर्ट शीघ्र प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।

भराला ने श्रमिकों के कल्याणार्थ संचालित योजनाओं में आ रही समस्याओं का त्वरित निवारण के लिए उत्तर प्रदेश श्रम कल्याण परिषद के कार्यालय में उप सचिव के पद पर तैनाती किये जाने के निर्देश उच्च अधिकारियों को दिये। उन्होंने परिषद की श्रवण कुमार श्रमिक परिवार धार्मिक पर्यटन योजना के अन्तर्गत पात्र श्रमिक परिवारों को श्रमिक दिवस (01 मई, 2022) को तीर्थयात्रा पर भेजने के लिए प्रदेश के प्रत्येक मण्डल से एक बस रवाना किये जाने के निर्देश अधिकारियों को दिये।

उन्होंने बैठक में निदेशक कारखाना के प्रतिनिधि के तौर पर सम्मिलित सहायक निदेशक कारखाना, लखनऊ सम्भाग को निर्देशित किया कि प्रदेश में पंजीकृत दुकानों/वाणिज्यिक कारखानों/अधिष्ठानों की वास्तविक आंकड़ा जी0एस0टी0 कमिश्नर तथा प्रमुख सचिव एम0एस0एम0ई0 से पत्राचार के माध्यम से प्राप्त कर एक सप्ताह में अवगत कराया जाए, जिससे अधिक से अधिक संख्या में प्रतिष्ठानों का पंजीकरण कराते हुए श्रमिकों को कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिया जा सके। परिषद द्वारा संचालित योजनाओं को जनहित गारन्टी अधिनियम से आच्छादित किये जाने सम्बंधित प्रस्ताव को भी कार्यरूप में परिणत किये जाने के निर्देश प्रदान किये गये।

 भराला ने उ0प्र0 श्रम कल्याण निधि अधिनियम 1965 में प्रस्तावित संशोधनों एवं परिषद की बैठकों में लिये गये महत्वपूर्ण प्रकरण जो शासन स्तर पर विचाराधीन है, के सम्बंध में त्वरित निस्तारण के निर्देश दिये, ताकि संशोधनों का लाभ श्रमिक को शीघ्रता से दिलाया जा सके। उन्होंने श्रमिक पोर्टल पर पात्र श्रमिकों का अधिक से अधिक पंजीकरण कराने के निर्देश दिये, इसके लिए प्रदेश स्तर पर विशेष अभियान भी चलाया जाय।

अपर मुख्य सचिव, श्रम  सुरेश चन्द्रा ने बैठक में बोर्ड की योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ पात्र श्रमिकों को दिलाने तथा योजनाओं के संचालन में आ रही समस्याओं को शीघ्र दूर करने का आश्वासन दिया। उन्होंने बजट के आधार पर पात्रों को योजनाओं का लाभ दिलाये जाने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि श्रमिक कल्याण के लिए संचालित योजनाओं का लाभ मिलने से श्रमिकों का जीवन स्तर ऊंचा उठेगा।

बैठक में परिषद के सदस्य  कन्हैया लाल भारती,  मुरहू राजभर,  राधेकृष्ण त्रिपाठी तथा  अजीत जैन,  अतुल दुबे, विशेष आमंत्रित सदस्य के साथ अपर श्रमायुक्त, उप श्रम आयुक्त उपस्थित रहे।

Previous Post Next Post