इंडिया@१०० का विज़न करेगा देश को मज़बूत:: दुर्गा शंकर मिश्रा, मुख्य सचिव

टेक्निकल एसोसिएट्स के विनम्र अग्रवाल तथा गोल्डी ग्रुप के आकाश गोयनका क्रमशः बने सी आई आई उत्तर प्रदेश के नए अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष 


लखनऊ(मानवीमीडिया)सी
 आई आई द्वारा आयोजित वार्षिक अधिवेशन में 'इंडिया@७५उत्तर प्रदेश - एक बदलता परिदृश्यपर चर्चा का आयोजन किया गया | इस अधिवेशन के दौरान विनम्र अग्रवालमुख्या कार्यकारिणी अधिकारीटेक्निकल एसोसिएट्स को वर्ष २०२२-२३ के लिए सी आई आई उत्तर प्रदेश का अध्यक्ष तथा  आकाश गोयनकानिदेशकशुभम गोल्डीी ग्रुप को उपाध्यक्ष घोषित किया गया | इस चर्चा-परिचर्चा का प्रमुख केंद्र उत्तर प्रदेश की आर्थिक विकास को बढ़ावा देना रहा |  

 


सीआई आई के मेंबर्स तथा अन्य उद्योगपतियों को सम्बोधित करते हुए  दुर्गा शंकर मिश्रामुख्य सचिवउत्तर प्रदेश ने उल्लेख किया की पहले के मुकाबले जहांअधिकतर विनिर्माण राज्य सरकार के हाथों में था वहीं अब यूपी राज्य औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के लिए उत्प्रेरक के रूप में कार्य कर रहा है I महामारी का जिक्र करते हुए, उन्होंने कहा कि यहां तक ​​​​कि आज विश्व की सबसे विकसित अर्थव्यवस्थाएं भी कोविड प्रबंधन से जूझ रही हैं और ऐसे समय में भारत का प्रदर्शन अनुकरणीय रहा है, जो की covid प्रबंधन के साथ ही साथ आत्मा निर्भर भारत को भी शशक्त कर रहा है I मुख्य सचिव भविस्य की दिशा निर्देश पर चर्चा करते हुए बताया कि India@100 का विजन आवश्यक नीतिगत रोडमैप को तैयार करने और इसे साकार करने के लिए आवश्यक योजनाएँ बनाने के लिए एक मार्गदर्शक के रूप में काम करेगा। उन्होंने यह भी साझा किया कि यूपी गति शक्ति के कार्यान्वयन में अग्रणी राज्यों में से एक है। 

उत्तर प्रदेश सरकार के  अरविन्द कुमारऊपर प्रमुख सचिवऔद्योगिक विकास तथा अधोरचना विभाग, ने बताया की राज्य ब्लॉक-चेन प्रौद्योगिकी पर विचार कर रहा है और इस संबंध में युवाओं को जोड़ने और बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसरों को प्रोत्साहित करने के लिए योजनाओं का मसौदा तैयार कर रहा है।श्री कुमार ने बताया कि 3 इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग क्लस्टर प्रस्तावित हैं, जिनमें लखनऊ-कानपुर-उन्नाव जोन शामिल  है। उन्होंने ललितपुर में नियोजित फार्मा पार्क का भी उल्लेख किया जिसे अनुमोदन के लिए केंद्र सरकार को प्रस्तावित किया गया है। उन्होंने सभी उद्द्योगपतियों से ईवी निर्माण और ऑटो घटकों के साथ-साथ एक परिपक्व अर्थव्यवस्था के लिए अपशिष्ट प्रबंधन के लिए पीएलआई के बारे में इनपुट के लिए भी आग्रह किया।  


सी
 आई आई उत्तर प्रदेश के निवर्तमान अध्यक्ष तथा प्रबंध निदेशकअम्बिका स्टील्स  सी पी गुप्ता 
ने बताया कि प्रदेश सरकार ने विगत वर्षों में कुछ प्रमुख क्षेत्र जैसे इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माणरिन्यूएबल एनर्जीरक्षाकृषि आदि पर अधिक ध्यान केंद्रित किया है जिससे कि उत्तर प्रदेश राज्य को वैश्विक निवेश तथा विनिर्माण के दृष्टिकोण से विशेष महत्वता प्राप्त हुई है |  

 सुनील वाचानी, संस्थापक और अध्यक्ष, डिक्सन टेक्नोलॉजीज ने उल्लेख किया कि पूरी दुनिया इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों के लिए चीन के विकल्प की तलाश कर रही है। उन्होंने यह भी साझा किया कि भारत के वर्तमान मोबाइल निर्माण का 65% उत्तर प्रदेश में हो रहा है। इस क्षेत्र में संभावनाओं पर प्रकाश डालते हुए,  वाचानी ने कहा कि एलईडी विनिर्माण के साथ-साथ रेफ्रिजरेटर निर्माण देश के निर्यात के लिए एक गेम चेंजर हो सकता है। उन्होंने आगे सुझाव दिया कि प्लग एंड प्ले मॉडल के साथ-साथ क्लस्टर निर्माण दृष्टिकोण पर आधारित एक मजबूत घटक पारिस्थितिकी तंत्र राज्य में क्षेत्र के विकास को बढ़ावा दे सकता है। 

सचिन अग्रवालअध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशकपीटीसी इंडस्ट्रीज ने उल्लेख किया कि रूस पर आर्थिक प्रतिबंधों के परिणामस्वरूप वैश्विक रक्षा संबंधी पूछताछ भारत की ओर पुनर्निर्देशित हुई है। उन्होंने यह भी साझा किया कि केंद्र सरकार द्वारा रक्षा के लिए कुल बजट का 50% आवंटन इस क्षेत्र में व्यापक दायरे को इंगित करता है। उन्होंने राज्य सरकार के उत्साह की भी सराहना की, जिसने उद्योग को पनपने में मदद करने के लिए ब्रह्मो और बीडीएल जैसी एंकर इकाइयों को मुफ्त भूमि देकर रक्षा-विनिर्माण यानी भूमि की बड़ी चुनौती का समाधान किया है। 

सोसाइटी ऑफ इंडियन डिफेंस मैन्युफैक्चरर्स के महानिदेशक  सुनील कुमार मिश्रा ने उल्लेख किया कि केंद्र सरकार द्वारा दिए गए प्रोत्साहन के कारण, भारत में रक्षा निर्माण को अभूतपूर्व बढ़ावा मिला है।  


पेप्सिको
 इंडिया के सरकारी मामलों के प्रमुख अधिकारी  विराज चौहान
 ने साझा किया कि पेप्सिको ने कोशी, मथुरा में अपनी सबसे बड़ी इकाई स्थापित की है जो दो साल से भी कम समय में चालू हो गई है। उन्होंने आगे कहा कि सरकार के प्रयासों ने रोजगार सृजन के साथ-साथ कृषि आधुनिकीकरण को भी बढ़ावा दिया है। श्री चौहान ने कहा कि पेप्सिको खुद को उत्तर प्रदेश सरकार के ब्रांड एंबेसडर के रूप में देखती है और आत्मनिर्भर भारत की कहानी एक आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश के बिना पूरी नहीं हो सकती है।  

सी आई आई के इस वार्षिक अधिवेशन में उद्योग जगतसरकारी क्षेत्र तथा शैक्षणिक संस्थानों के पदाधिकारियों ने मुख्य रूप से भागीदारी की | 

 

Previous Post Next Post