मुख्यमंत्री योगी ने कर-करेत्तर राजस्व प्राप्तियों की समीक्षा बैठक की।

 


लखनऊ:( मानवी मीडिया) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यहां लोक भवन में कर-करेत्तर राजस्व प्राप्तियों की समीक्षा बैठक की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि राजस्व प्राप्तियों में बढ़ोत्तरी करने के उद्देश्य से वरिष्ठ अधिकारी फील्ड विजिट करें। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में वार्षिक टैक्स कलेक्शन के लक्ष्य को पुनरीक्षित कर डेढ़ लाख करोड़ रुपये करने पर विचार किया जाए। उन्होंने टैक्स चोरी रोकने के उद्देश्य से कार्ययोजना बनाने तथा अगले वित्तीय वर्ष के लिए राजस्व प्राप्तियों के सम्बन्ध में प्रस्तुतीकरण तैयार करने के भी निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्व प्राप्तियों से सम्बन्धित सभी प्रमुख विभाग, जिनमें जी0एस0टी0/वैट, आबकारी, स्टाम्प तथा निबंधन, परिवहन, भू-राजस्व तथा ऊर्जा विभाग शामिल हैं, स्वयं के लिए राजस्व प्राप्तियों के सम्बन्ध में 100 दिन, 06 माह व 01 वर्ष का लक्ष्य निर्धारित कर इसकी कार्ययोजना बनाएं तथा इसके सम्बन्ध में एक प्रस्तुतीकरण करें।
बैठक के दौरान मुख्यमंत्री  के समक्ष अपर मुख्य सचिव वित्त द्वारा राजस्व प्राप्तियों से सम्बन्धित इन प्रमुख 06 विभागों के सम्बन्ध में प्रस्तुतीकरण किया गया। इस दौरान जी0एस0टी0/वैट, आबकारी, स्टाम्प तथा निबंधन, परिवहन, भू-राजस्व तथा ऊर्जा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा राजस्व प्राप्तियों के सम्बन्ध में अपने विभागों द्वारा किए जा रहे प्रयासों के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी।
मुख्यमंत्री  ने समीक्षा बैठक के दौरान खनन सचिव को खनिजों के मूल्य नियंत्रण के सम्बन्ध में निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जनता की समस्याओं के सम्बन्ध में अत्यन्त संवेदनशील है। उन्होंने परिवहन विभाग को अपनी सभी सेवाएं ऑनलाइन करने के निर्देश दिए। उन्होंने अपर मुख्य सचिव आबकारी को अगले वित्तीय वर्ष के लिए अपने लक्ष्यों को बढ़ाने के भी निर्देश दिए।
बैठक के दौरान मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव कर विभाग/अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त  संजीव कुमार मित्तल, अपर मुख्य सचिव वित्त  एस0 राधा चौहान, अपर मुख्य सचिव राजस्व  संजय भूसरेड्डी, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री  एस0पी0 गोयल, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना  संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव परिवहन  राजेश कुमार सिंह, प्रमुख सचिव स्टाम्प एवं निबन्धन  वीना कुमारी मीना, सचिव खनन डॉ0 रोशन जैकब़, परिवहन आयुक्त  धीरज साहू, यू0पी0पी0सी0एल0 के चेयरमैन  एम0 देवराज सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
Previous Post Next Post