असदुद्दीन औवेसी को उसी के 'घर' में हराने की तैयारी


हैदराबाद (
मानवी मीडिया)  कांग्रेस पार्टी ने एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन औवेसी को उसी 'घर' यानि हैदराबाद में शिकस्त देने की तैयारी तेज कर दी है। कांग्रेस पार्टी के नेताओं का कहना है कि औवेसी ने पिछले चुनावों में साबित कर दिया कि वो भाजपा की बी टीम के रूप में काम कर रहे हैं। ऐसे में उन्होंने भी औवेसी को उन्हीं के गढ़ में हराने के लिए पूरी ताकत लगानी शुरू कर दी है। इसके अलावा कांग्रेस पार्टी ने तेलंगाना में सत्तारूढ़ टीआरएस सरकार के खिलाफ मजबूत आंदोलन शुरू करने की घोषणा की है। 

तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अल्पसंख्यक विभाग की कार्यकारी समिति ने हाई कमान के निर्देश के बाद तेलंगाना के ओल्ड हैदराबाद में पार्टी सदस्यता अभियान को तेज करने का फैसला लिया है। ओल्ड हैदराबाद को असदुद्दीन औवेसी की पार्टी एआईएमआईएम का गढ़ माना जाता है। बुधवार को हैदराबाद के गांधी भवन में कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने गहन चर्चा के बाद यह फैसला लिया।

एआईसीसी अल्पसंख्यक विभाग प्रभारी फरहान आजमी ने कहा, "इसमें कोई संदेह नहीं है कि एमआईएमआईएम भाजपा और संघ परिवार की बी-टीम की तरह काम कर रही है। यह उत्तर प्रदेश के हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनावों सहित विभिन्न चुनावों में साबित हुआ है। एक राजनीतिक दल के रूप में वे देश में कहीं भी एमआईएमआईएम से चुनाव लड़ने के लिए स्वतंत्र है। हालांकि, एमआईएमआईएम नेतृत्व भाजपा को लाभ पहुंचाने के लिए चुनावों का ध्रुवीकरण करने के एकमात्र इरादे से चुनिंदा निर्वाचन क्षेत्रों में चुनाव लड़ रहा है। अब हमने औवेसी को उनके ही गढ़ में टक्कर देने का फैसला लिया है।"

बताते चलें कि कांग्रेस इस साल मई में अल्पसंख्यकों के मुद्दों पर चारमीनार से गांधी भवन तक आंदोलन करेगी। पार्टी ने जून या जुलाई से तेलंगाना के सभी जिलों में जनसभाओं की एक श्रृंखला की भी योजना बनाई है। पार्टी नेता ने कहा, "हमने एआईसीसी महासचिव प्रियंका गांधी को ओल्ड सिटी में होने वाली एक बैठक में आमंत्रित करने का फैसला किया है।"

Previous Post Next Post