सरकार ने किया ये इंतजाम, बोर्ड परीक्षा में नकल करने और कराने वालों की खैर नहीं


लखनऊ (मानवी मीडियाउत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद प्रयागराज  संचालित हाईस्कूल और इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षा में संगठित रूप से नकल कराने वालों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून यानी रासुका (NSA) के तहत कार्रवाई किए जाने का फैसला किया गया है. उत्तर प्रदेश (UP) के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने मंगलवार को साल 2022 की बोर्ड परीक्षा को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के समस्त मण्डलायुक्तों, पुलिस आयुक्तों, जिलाधिकारियों तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों के साथ बैठक की. जिसमें ये दिशा निर्देश जारी किए गए.

नकल कराने वालों पर लगेगा 'रासुका': CS

मुख्य सचिव मिश्र ने खास तौर से सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है कि नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए हर शहर और कस्बे में जोनल तथा सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात कर लिए जायें जो परीक्षा की अवधि के दौरान एक्जाम सेंटर्स का कड़ाई के साथ नियमित निरीक्षण और पर्यवेक्षण करें. प्रशासनिक आदेश के मुताबिक मुख्य सचिव ने ये भी कहा कि पूरी परीक्षा के दौरान अफवाह फैलाने वालों पर खास ध्यान देते  हुए उन पर भी कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाये.

पुलिस के आला अधिकारी करें निरीक्षण

मुख्य सचिव ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा प्रश्न पत्रों के पहुंचने से पहले ही प्रश्न पत्रों की सुरक्षा हेतु पहले से ही जरूरी पुलिस व्यवस्था सुनिश्चित की जाए. उन्होंने सभी प्रश्न पत्रों को जिला मुख्यालय में पुलिस अभिरक्षा में सुरक्षित स्थानों पर रखने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन यह सुनिश्चित करें कि समस्त परीक्षा केन्द्रों पर परीक्षा की अवधि में पर्याप्त सशस्त्र सुरक्षा बल उपलब्ध रहे. आवश्यक सभी सुविधा और चाक चौबंद व्यवस्था की हिदायत के साथ मुख्य सचिव ने समस्त जिलाधिकारी एवं पुलिस अधिकारियों से अपेक्षा की है कि वे लोग स्वयं भी परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण करें.

अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला ने बताया कि प्रदेश में 8,373 परीक्षा केन्द्रों पर 51,92,689 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे और प्रश्न पत्रों को रखने की व्यवस्था डबल लाक युक्त अलमारी में किया गया है. शुक्ला के अनुसार प्रत्येक परीक्षा केन्द्र के हर परीक्षा कक्ष में CCTV स्थापित किया गया है. इस बैठक में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पुलिस महानिदेशक मुकुल गोयल और अपर मुख्य सचिव गृह समेत कई अन्य अधिकारी शामिल हुए. बता दें कि यूपी बोर्ड यानी उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद, प्रयागराज द्वारा संचालित हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षाएं 24 मार्च से शुरू हो रही हैं.

Previous Post Next Post