रेल में सफर करने वाले बुजुर्ग यात्रियों के लिए बुरी खबर, चुकाने होंगे पूरे पैसे


नई दिल्ली (मानवी मीडिया): भारतीय रेल में सफर करने वाले बुजुर्ग यात्रियों के लिए एक बुरी खबर है। रेलवे द्वारा अब वरिष्ठ नागरिकों को किराए में दी जाने वाली छूट पर पाबंदी लगाई जा रही है। केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बुधवार को लोकसभा में कहा कि रेलवे द्वारा वरिष्ठ नागरिकों को किराये में दी जाने वाली छूट पर फिलहाल पाबंदी लगी रहेगी। इसका सीधा मतलब ये हुआ कि ट्रेन में सफर करने वाले वरिष्ठ नागरिकों को किराये में फिलहाल छूट नहीं मिलेगी और उन्हें भी बाकी यात्रियों की तरह पूरा किराया चुकाना होगा। बता दें कि साल 2020 में जब देश में कोरोना की पहली लहर आई थी, तब सरकार ने यात्री रेल सेवाओं पर प्रतिबंध लगा दिया था। हालांकि, कुछ समय के बाद सरकार ने यात्री सेवाओं को शुरू कर दिया था। लेकिन, जब रेल सेवाएं शुरू की गई थीं तो रेलवे ने बुजुर्ग यात्रियों को दिए जाने वाली छूट बंद कर दी थी।

कोरोना के दौरान जब यात्री रेल सेवाओं को दोबारा शुरू किया गया था, तब बुजुर्गों को किराये पर मिलने वाली छूट बंद हो गई थी। हालांकि, रेलवे ने कुछ विशेष क्षेणी के अंतर्गत आने वाले यात्रियों के लिए किराये में छूट देना दोबारा शुरू कर दिया था। बता दें कि कोरोना के दौरान जब रेल सेवाएं बहाल की गई थीं, उस समय से ही 4 क्षेणी के दिव्यांगों, 11 गंभीर बीमारियों से ग्रस्त मरीजों और छात्रों को किराये में छूट मिलने लगी थी।

कोरोना के दौरान जब रेल सेवाओं को बंद किया गया था, उस समय रेलवे को काफी नुकसान उठाना पड़ा था। टिकट की बिक्री बंद होने की वजह से यात्री किराये से होने वाली कमाई भी बंद हो गई थी। हालांकि, बाद में सेवाएं शुरू तो कर दी गई थीं लेकिन ट्रेन में यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या काफी कम हो गई थी। मौजूदा समय में भी लोग अब सिर्फ जरूरत पड़ने पर ही ट्रेनों में यात्रा कर रहे हैं। लिहाजा, ट्रेनों में यात्रियों की संख्या कम होने की वजह से भारतीय रेल की कमाई पर काफी बुरा असर पड़ा।

बता दें कि भारतीय रेल द्वारा 58 साल से ऊपर की महिला यात्री और 60 साल से ऊपर के पुरुष यात्रियों को किराये पर रियायत दी जाती थी। केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि यात्रियों को किराये पर दी जाने वाली छूट से भारतीय रेल पर काफी बोझ पड़ता है, इसलिए रेलवे ने ये फैसला किया है कि फिलहाल बुजुर्गों को रेल किराये पर मिलने वाली छूट पर पाबंदी जारी रहेगी और उन्हें भी बाकी यात्रियों की तरह ही पूरा किराया देना होगा।

Previous Post Next Post