छत्तीसगढ़ में गैर ब्राह्मण कथा वाचिका यामिनी साहू को व्यास मंच पर नहीं बैठने की धमकी


छत्तीसगढ़ (मानवी मीडियामहासमुंद जिले में एक महिला भागवत कथा वाचिका को व्यासपीठ पर नहीं बैठने की धमकी मिल रही। कथा वाचिक यामिनी साहू को यह धमकियां मिल रही हैं। फोन पर धमकी देने वाले कह रहे हैं कि तुम शुद्र हो, व्यास मंच पर बैठकर भागवत नहीं कह सकते। एक गैर ब्राह्मण को व्यास पीठ पर बैठकर कथा कहने का अधिकार नहीं है। जाकर मुजरा करो...। नहीं मानने पर कथा स्थल में आकर मंच उतारने की धमकी दी गई है। 

यामिनी साहू ने एसपी कार्यालय ने शिकायत कर सुरक्षा मांगी, जिसके बाद कथा स्थल पर जवानों को तैनात किया गया है। यामिनी साहू ने एसपी को दिए पत्र में कहा कि महासमुंद जिले की बागबाहरा की वह रहने वाली है। वे गायत्री परिवार से जुड़ी हैं और पिछले 10 साल से भागवत कथा कराते आ रही हैं। जिले के सीरगड़ी गांव में 20 से 27 मार्च तक भागवत कथा आयोजित है। उन्हें अनजान नंबरों से फोन आ रहे हैं। वे गैरब्राह्मण हैं और उन्हें इसी बात को लेकर धमकिया मिल रही हैं। अपनी शिकायत में यामिनी साहू ने बताया कि फोन पर धमकी देने वाले कह रहे हैं कि एक गैर ब्राह्मण को व्यास पीठ पर बैठकर कथा कहने का अधिकार नहीं है। जाकर मुजरा करो। यामिनी ने पुलिस अधीक्षक को फोन रिकार्डिंग भी पेन ड्राइव में उपलब्ध कराई है।

कथा स्थल में आकर अपमान करने की धमकी
एसपी को यामिनी साहू ने कुछ मोबाइल नंबर भी दिए हैं, जिनसे उन्हें कॉल कर धमकी दी जा रही है। धमकी देने वाले कह रहे हैं कि भागवत कथा छोड़ दो नहीं तो हम मंच पर आएंगे तुम्हें उतारेंगे। तुम लोग केले के छिलके हो तुम लोगों को कथा करने का अधिकार नहीं है। यदि हमारी बात नहीं मानी तो कथा स्थल पर पहुंचकर तुम्हारा अपमान करेंगे। उन्होंने कहा है कि धमकी भरे फोन के कारण वे काफी डरी हुई हैं। 

कथा स्थल पर सुरक्षा में जवान तैनात किए गए 
यामिनी ने कथा स्थल और निवास स्थान में सुरक्षा देने का निवेदन और दोषियों पर सख्त कार्रवाई की मांग एसपी को दिए आवेदन में किया है। इधर महासमुंद एसपी विवेश शुक्ला ने बताया कि महिला भागवत कथाकार को धमकी मिलने की शिकायत मिली है। SDOP इस मामले की जांच कर रहे हैं। कार्यक्रम स्थल पर सुरक्षा के लिए जवान तैनात किए गए हैं। वहीं धमकी देने वालों को ट्रेस करने का प्रयास किया जा रहा है।

Previous Post Next Post