कश्मीर को मिलेगी मंदिर की सौगात, शताब्दियों पुरानी तीर्थयात्रा होगी पुनर्जीवित


 श्रीनगर (मानवी मीडियाउत्तर कश्मीर में एलओसी के पास शारदा मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हुआ जम्मू, 28 मार्च (भाषा) उत्तर कश्मीर के तीतवाल क्षेत्र में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के नजदीक माता शारदा मंदिर और केंद्र की स्थापना का कार्य शुरू हो गया है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. 

शताब्दियों पुरानी तीर्थयात्रा होगी पुनर्जीवित

शारदा बचाओ समिति (एसएससी) के अधिकारियों ने कहा कि कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में इस मंदिर का निर्माण शताब्दियों पुरानी उस तीर्थयात्रा को पुनर्जीवित करने के उद्देश्य से किया जा रहा है, जो पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले कश्मीर में स्थित शारदापीठ में होती थी. 

मंदिर का निर्माण कार्य शुरू

एसएससी के प्रमुख रविंद्र पंडित ने कहा, 'शारदा यात्रा मंदिर समिति (एसवाईटीसी) ने कश्मीर में तीतवाल क्षेत्र में एलओसी पर प्राचीन शारदा मंदिर का निर्माण कार्य शुरू कर दिया है.' उन्होंने कहा, 'निर्माण स्थल पर एक पूजा हुई, जिसमें देश के विभिन्न हिस्सों से आए कश्मीरी हिन्दुओं ने भाग लिया.'

2021 में रखी गई परियोजना की आधारशिला

उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में सिखों और स्थानीय लोगों ने भाग लिया. समिति ने भूमि का सीमांकन करने के बाद दिसंबर 2021 में इस परियोजना की आधारशिला रखी थी. मंदिर की परिकल्पना और मॉडल को पहले ही दक्षिण श्रृंगेरी मठ से मंजूरी मिल गई है और मंदिर में लगने वाले ग्रेनाइट के पत्थरों पर शिल्प का काम कर्नाटक के बिदादी में शुरू हो गया है. 


Previous Post Next Post