80 फीसदी पर जीत दर्ज कर फिर सरकार बनायेंगे:: योगी

गोरखपुर (मानवी मीडिया) : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रत्याशी योगी आदित्यनाथ ने गुरूवार को मताधिकार का प्रयोग करने के बाद दावा किया कि भाजपा और सहयोगी दल विधानसभा की कुल 403 सीटों में से 80 फीसदी पर जीत दर्ज कर फिर सरकार बनायेंगे जबकि विपक्ष 20 फीसदी पर सिमट जायेगा।

‘पहले मतदान फिर जलपान’ के चुनाव आयोग के मंत्र का अनुसरण करते हुए श्री योगी ने गोरखनाथ स्थित प्राथमिक विद्यालय कन्या इंग्लिश मीडियम के बूथ संख्या 249 पर अपने मताधिकार का प्रयोग किया। सुबह सात बजे ही बूथ पर पहुंचे मुख्यमंत्री अपने बूथ के पहले वोटर भी बने।

मतदान के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि छठे चरण के चुनाव में जीत का जोरदार छक्का लगाकर हम 300 के लक्ष्य को प्राप्त करने की ओर अग्रसर हैं। सातवें चरण में 2017 की तुलना में उससे बड़ी जीत का नया रिकॉर्ड बनाने जा रहे हैं। भाजपा मौजूदा चुनाव में 80 फीसदी सीटे जीतने में कामयाब होगी और शेष 20 प्रतिशत में विपक्षी दल सिमट कर रह जायेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्षी दलो का भ्रम फैलाने की नीति बेकार हो गयी और जनता सुशासन, विकास और राष्ट्रवाद के नाम पर वोट दे रही है। इसके पहले वर्ष 2014, 2017 और 2019 में जनता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति अपना विश्वास जताया था। भाजपा की डबल इंजन सरकार ने पीएम मोदी के मार्गदर्शन में ईमानदारी, श्रद्धा व प्रतिबद्धता के साथ जनता के भरोसे का मान रखते हुए कार्य किया है। जनता के उत्साह में इसकी झलक साफ देखी ज

उन्होने सरकार चुनने में जनता से सही निर्णय करने की अपील की। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने महिलाओं, पिछड़ों,दलितों,गरीबों व समाज के सभी वर्गों के लिए अभूतपूर्व कार्य करने का प्रयास किया है। इसे देखा भी जा सकता है। आज निर्णय की घड़ी है कि हम कैसी सरकार चाहते हैं। माफियाओं, दंगाइयों का साथ देने वाले लोगों की सरकार या फिर ऐसी सरकार जिसने सुरक्षा, विकास, रोजगार व सुशासन की गारंटी दी है। निर्णय की इस घड़ी में हम चूके तो पांच वर्ष की मेहनत पर पानी फिर जाएगा। भाजपा की सरकार ने दंगामुक्त, भयमुक्त वातावरण दिया है। दंगाइयों व पेशेवर माफियाओं के खिलाफ आप सबने बुलडोजर के बेहतर उपयोग को भी देखा है।

गोरखपुर जिले के नौ विधान सभा सीटों आज सुबह सात बजे से मतदान शुरू हुआ तो उसके पहले लम्बी कतारे लग गयी थी। शहरी क्षेत्रों के कुछ बूथों पर लोगों को पर्ची न न मिलने से और वोटर लिस्ट में नाम न होने की शिकायतें मिली मगर स्थानीय तौर पर हल कर लिया गया।

गोरखपुर सदर विधान सभा सीट पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहली बार विधान सभा का चुनाव लड रहे हैं जहां उनके राजनैतिक कौशल और विभिन्न जातियों को साथ जोडने काे कसौटी पर परखा जायेगा। वर्ष 2017 के विधान सभा चुनाव में गोरखपुर जिले के नौ विधान सभा सीटों में से आठ पर भाजपा ने जीत दर्ज की थी और इस बार पुराने प्रदर्शन को दोहराने की चुनौती है।

Previous Post Next Post