बेटे को पढ़ाई के लिए विदेश ना भेजने पर पत्नी ने की पति की हत्या

मुंबई (मानवी मीडिया) अंबोली इलाके में शुक्रवार सुबह एक व्यक्ति को उसकी पत्नी और बेटे ने कथित तौर पर इस वजह से मार डाला क्योंकि वो अपने लड़के को न्यूजीलैंड में पढ़ाई करने जाने के लिए पैसे नहीं दे रहा था.

दोनों (मां और बेटे ने) उसे पीट-पीट कर पहले मारने की कोशिश की और जब वो नहीं मरा तो दोनों आरोपियों ने मृतक को इमारत के 7वे मंजिले से नीचे फेंक दिया जिसके बाद शख्स की मौत हो गई. मृतक का नाम संतान शेषाद्री है जिसकी उम्र 55 साल है.

बेडरूम में खून के दाग

अंबोली पुलिस स्टेशन के अधिकारी रौफ शेख ने एबीपी न्यूज को बताया कि उन्हें जब इस मौत की जानकारी मिली तो वो घटनास्थल पर गए और तब समझ में आया की ये आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या हो सकती है. पुलिस ने पाया कि उसके बेडरूम में खून के दाग थे और कुछ कपड़ों में भी खून लगा हुआ था. मृतक की पत्नी जयशिला से जब पूछताछ की गई तो उसने पुलिस को बयान में बताया कि उसके पति ने 2 बार आत्महत्या की कोशिश की है.

पहली कोशिश साल 2005 में की थी, जब वे मुंबई में थे. उस समय वो कूदकर आत्महत्या करना चाहते थे पर किसी ने देख लिया और उसे बचा लिया था. इसके बाद दूसरी कोशिश साल 2011 में की थी जब वो हैदराबाद में रहते थे. उस समय उसने अपने हाथ काटकर आत्महत्या करने की कोशिश की थी. पुलिस ने इस मामले में जयशिला और उसके लड़के अरविंद को गिरफ्तार किया है क्योंकि दोनों का जब बयान लिया जा रहा था, तब दोनों ने अलग-अलग कहानी बताई थी.

अलार्म लगाकर हत्या की गई !

पुलिस अधिकारी शेख ने बताया कि पूछताछ के दौरान पता चला कि परिवार में अक्सर झगड़े होते थे और संतोष अलग कमरे में रहता था. उसकी पत्नी और बेटा अलग रहते थे. एक ने बयान में बताया कि संतोष उन्हें पैसे भी नहीं देता था. महीने के 10 हजार रुपये मुश्किल से देता था. ऐसे तमाम झगड़ों के चलते इनके बीच कुछ ठीक से नहीं चल रहा था. उन्हें पता था कि वो शुगर का मरीज है और वो दवा खाने के बाद गहरी नींद में सो जाता है जिसके बाद मां बेटे ने सुबह 4 बजे का अलार्म लगाया और उठाकर उसे मारना शुरू किया. पहले उसका सिर बेड की लकड़ी पर कई बार पटका और फिर उसके हाथ की नस काटी ताकि इसे आत्महत्या का रूप दिखा सके. इसके बावजूद जब वो नहीं मरा तब उन लोगों ने उसे 7वीं मंजिल से नीचे फेंक दिया.

मरने की धमकी देता था!

बेटे ने अपने बयान में बताया कि उसका पिता बार-बार यह धमकी देता था कि वो आत्महत्या कर लेगा और इन लोगों को उसकी आत्महत्या के आरोप में फंसा देगा. इतना ही नहीं, मृतक के घरवालों ने आरोप लगाया कि उसकी पत्नी उसे किसी से मिलने नही देती थी. मृतक का एक भाई BARC में वैज्ञानिक रह चुका है.

एक और बात पुलिस के सामने आई है कि मृतक को उसकी पत्नी पसंद नहीं थी. उसे इसके साथ शादी नहीं करनी थी और वो जिस तरह से अकेले रहता था उसे देख उन्हें शक होता था कि उसका किसी और के साथ प्रेम संबंध हो सकता है. पुलिस आज इन दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश करेगी.

 

Previous Post Next Post