बांदा में बसपा सुप्रीमो मायावती सपा, भाजपा पर बोली

लखनऊ (मानवी मीडिया) बाँदा में हुए कार्यक्रम में  बीएसपी की राष्ट्रीय अध्यक्ष, पूर्व सांसद एवं उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री  मायावती  प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा

 सपा की सरकार में तो अधिकांश प्रदेश में गुंडों, बदमाशों, माफियों वह अराजक तत्वों,दंगाइयों एवं लूट खसौट करने वालों का ही राज रहा है, इस वजह से ही इस सरकार में आए दिन जाति व धर्म के नाम पर दंगे होते रहते हैं।  जिसके वजह से हमेशा यहां तनाव की स्थिति बनी रही है। और चित्रकूट मंडल जिसमें बाँदा जैसे जिलों में सपा सरकार में हमेशा आतंक का वातावरण बना रहा है। और बाँदा के लोगों को मालूम है बसपा की सरकार बनने से पहले यहां डकैतों का ही आतंक होता था, गांव के गांव खाली हो जाते थे, रोटी-रोजी के बजाये डकैतों के आतंक से लोग पलायन करते थे,जब बसपा सरकार में आई तो डकैतों का जो आतंक था उसका सफाया कर दिया गया और यहां पर अमन चैन का वातावरण कायम किया गया,। प्रदेश में विकास का कार्य ज्यादातर यहां एक विशेष क्षेत्र में एक विशेष समुदाय के लोगों तक ही सीमित होकर रह गया। सपा की सरकार के चलते दलित व अति पिछड़े वर्गो के लोगों के साथ सौतेला व्यवहार रहा है। जब सपा पॉवर में आई तब हमारी पार्टी की सरकार ने जो दलित व अन्य पिछड़े वर्ग में हुए समय-समय पर महापुरुष,संतों को आदर सम्मान देने के लिए हमारी पार्टी की सरकार ने जितने जिलों के नाम इन महापुरषों के नाम से रखें या योजनाओं के नाम रखें वो सपा ने बदल दिए और इतना ही नहीं मैं सरकारी कर्मचारियों को भी यह बताना चाहती हूं कि जब पदोन्नति में आरक्षण को लेकर जब पार्लियामेंट में बिल आया तब यही समाजवादी पार्टी थी जिसने इस बिल को फाड़ दिया था और पास नहीं होने दिया था ताकि जो दलित वर्ग के लोग हैं उनको पदोन्नति में आरक्षण की सुविधा ना मिल सके। यह समाजवादी पार्टी का कैरेक्टर है।

 इसी प्रकार भाजपा सरकार की नीतियों व कार्यशैली अधिकांश यहां जातिवादी, पूंजीवादी एवं आर एस एस के संकीर्ण एजेंडे को लागू करने पर ही टिकी रही है। जिससे प्रभावित एवं शिकार हुए लोगों का इस सरकार में सही से विकास एवं उत्थान नहीं हो सका है, साथ ही इनका हर स्तर पर काफी ज्यादा उत्पीड़न भी किया गया है,भाजपा ने धर्म के नाम पर हमेशा से यहां तनाव और नफरत का ही वातावरण बनाए रखा है, प्रदेश में हर प्रकार के अपराध भी खासा बड़े हैं, खासकर दलित व महिलाएं भी कतई भी सुरक्षित नहीं है, लेकिन मीडिया में इनके आंकड़ों को ज्यादातर दबा दिया जाता है।  इसके अलावा प्रदेश में गरीबों मजदूरों,बेरोजगारों अन्य मेहनतकश लोगों के साथ साथ दलितों, आदिवासियों अन्य पिछड़े वर्ग मुस्लिम एवं अन्य धार्मिक अल्पसंख्यक समाज के लोगों के हित व कल्याण के लिए बरसों से जो भी यहां सरकारी योजनाएं चल रही थी तो उनका भी इस सरकार में सही से पूरा लाभ नहीं मिल सका है, खासकर दलितों व पिछड़ों को भी आरक्षण का पूरा लाभ नहीं मिल सका है क्योंकि इनकी सरकार में ज्यादातर सरकारी कार्य प्राइवेट सेक्टर के जरिए ही कराया जा रहा है, जिसमें आरक्षण की कोई व्यवस्था नहीं है, सरकारी नौकरियों में भी इनका आरक्षण का कोटा भाजपा सरकार में भी पूरा नहीं किया गया है, मुस्लिम धार्मिक व अल्पसंख्यक के लोगों के साथ तो बीजेपी सरकार ने अधिकांश पक्षपात रवैया अपनाया है, भाजपा सरकार में अपर कास्ट समाज से विशेषकर प्रबुद्ध वर्ग भी हर मामले में अपने आप को काफी ज्यादा उपेक्षित महसूस करता दिखा है,साथ ही रोजगार की तलाश में बेरोजगार युवाओं को पलायन करने पर मजबूर किया गया है। बसपा 4 बार सत्ता में रही और अकेली बसपा की सरकार में लोगों को पलयान नहीं करना पड़ा है क्योंकि बसपा ने सबको रोजी-रोटी देने का काम किया है। जो पलयान करके चले गए थे वे भी वापस आ गए थे। 

कोरोना महामारी के दौरान तो इन सभी की हालत और भी ज्यादा खराब हो गई है, इन सभी विरोधी पार्टियों से निजात पाने के लिए इस चुनाव में प्रदेश की जनता को अपने एकमात्र हितैषी पार्टी बीएसपी को वोट देकर सरकार बनानी है। बहुजन समाज पार्टी अपने चारों रहे शासनकाल के दौरान बिना पक्षपात यहां कमजोर एवं उपेक्षित लोगों के साथ-साथ सर्व समाज का विकास किया है। इसके अलावा बीएसपी की सरकार में दलित एवं अन्य पिछड़े वर्गों में जन्मे संतों  एवं  महापुरुषों आदि को भी विभिन्न रूपों में पूरा-पूरा आदर सम्मान दिया गया है, जिसका विरोधी पार्टियों द्वारा काफी ज्यादा उपेक्षा की गई है। इसके साथ-साथ बीएसपी के सरकार में पूर्व की तरह ही सभी वर्गो धर्मों व विभिन्न क्षेत्रों में लगे लोगों के हितों में भी फिर से ऐतिहासिक कार्य किए जाएंगे। गरीबी व बेरोजगारी आदि को दूर करने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएंगे। यही बहुजन समाज पार्टी का मुख्य एजेंडा रहेगा। साथ ही  किसी भी मामले में किसानों को भी निराश नहीं होने दिया जाएगा। इसके अलावा आपके चित्रकूट मंडल के जो स्थानीय समस्याएं होंगी उन्हें भी दूर करने का पूरा पूरा प्रयास किया जाएगा।

जाति व धर्म के आधार पर किसी का भी शोषण व उत्पीड़न नही होने दिया जाएगा जैसा की भाजपा सरकार में हो रहा है।कानून व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए जाति व दलगत राजनीति से ऊपर उठकर गुंडों, बदमाशों, माफियाओं, अपराधिक व अराजक तत्वों को ही जेल की सलाखों में भेजा जाएगा।

 केंद्र सरकार द्वारा जाति धर्म व राजनीतिक द्वेष के भावनाओं के तहत लोगों को खासकर धरना प्रदर्शन आदि के नाम पर जबरदस्ती गलत धाराओं में फंसा कर केस चलाया जा रहा है उन मामलों की भी सही से जांच करा कर उनके केस भी खत्म किए जाएंगे। 

इसके अलावा शिक्षा के क्षेत्र में या अन्य विभागों के कर्मचारी जो आए दिन अपनी मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन एवं हड़ताल आदि करते हैं तो वह उन सभी मामलों को एक आयोग का गठन करके सभी मांगों को पूरा किया जाएगा।इन सभी कार्यों को पूरा करने के लिए बीएसपी की सरकार बनाना बहुत जरूरी है। पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को विरोधी पार्टियों के साम दाम दंड भेद से बचना होगा। विरोधी पाटिया जिस तरह चुनाव होने से पहले या चुनाव के दौरान ही अपनी हवा बनाने के लिए सर्वे,मीडिया, ओपिनियन पोल का गलत इस्तेमाल करती है उससे आप लोगों को गुमराह नहीं होना है।

बसपा कभी कोई घोषणा पत्र जारी नहीं करती क्योंकि बीएसपी कहने में काम कार्य करने में ज्यादा विश्वास रखती है। 

बीएसपी पावर में आ जाएगी तब आपका बुंदेलखंड जो पिछड़ा हुआ है और खासतौर से चित्रकूट मंडल और झांसी मंडल यहां के जो स्थानीय समस्याओं का समाधान निकाल कर उन्हें हल किया जाएगा।

 बीएसपी की चारों रही सरकारों में बुंदेलखंड को डेवलप  करने के लिए काफी काम किया गया है। बीएसपी की सरकार के बाद बुंदेलखंड के डेवलपमेंट के लिए केवल पेपर बाजी चलती रही मीडिया में प्रचार होता रहा लेकिन जमीनी स्तर पर कुछ भी काम नहीं किया गया है। इसीलिए बीजेपी की सरकार बनाएं ताकि बुंदेलखंड, चित्रकूट और झांसी मंडल की समस्याओं को दूर किया जा सके।


 


Previous Post Next Post