चारा घोटाले में लालू यादव को न्याय दिलाने के लिए तेज प्रताप ने शुरू की ‘न्याय यात्रा


पटना (मानवी मीडियाबिहार के बहुचर्चित चारा घोटाले में सजा काट रहे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के लिए अब उनके बड़े बेटे न्याय यात्रा निकाल रहे हैं। लालू यादव के बडे़ बेटे तेज प्रताप अपने इस न्याय यात्रा के जरिए अपने पिता को निर्दोष बता रहे हैं। तेज प्रताप यादव ने अपने सरकारी आवास से रविवार को इस यात्रा की शुरूआत की।

इस यात्रा की शुरूआत में तेज प्रताप यादव खुद ई-रिक्शा चलाते नजर आए। उन्होंने कहा कि उनके पिता को जेल से रिहा किया जाना चाहिए। भाजपा उनके पिता के खिलाफ साजिश कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार का जो भी विरोध करता है, उसे मुकदमों में फंसा दिया जाता है। न्याय यात्रा के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि छात्र जनशक्ति परिषद् की यह न्याय यात्रा पूरे बिहार में जाएगी और लालू यादव के खिलाफ साजिश करने वालों को बेनकाब करेगी।

तेज प्रताप यादव की इस यात्रा का एक वीडियो भी सामने आया है। जिसमें वो ई-रिक्शा चलाते दिख रहे हैं। इस वीडियो पर सोशल मीडिया यूजर्स जमकर प्रतिक्रिया देते हुए तंज कस रहे हैं। प्रणेश झा (@praneshjha5) नाम के यूजर ने लिखा- “गजब है भाई, बाप को न्याय दिलाने निकले जो जनता को न्याय नहीं दे पाया, कभी लूट, हत्या, भ्रष्टाचार का शहंशाह बन कर 15 साल शासन किया। बिहार का बंटाधार करके आज जेल यात्रा में है। बेटा जनता को मुर्ख बनाने निकला है”।

एक अन्य यूजर प्रकाश पांडया (@prakashpandya7) ने लिखा- “लालू प्रसाद यादव भ्रष्टाचार में लिप्त पाए गए हैं। यही सत्य है”। वहीं प्रमोद (@PramodTater) नाम के यूजर ने लिखा- “ये कौन सा नया तरीका है अपराध मुक्त होने का? बहुत लुटा है बिहार को तो सजा तो सब कम ही है”।

नागेंद्र कुमार (@Nagendr33254466) ने लिखा- “बीजेपी से हाथ मिलाकर कई नेता गंगा नहा लिए ,, लालू जी नहीं समझौता किए ,, अपने स्टैंड पर कायम रहे , उसी का परिणाम है”।

बता दें कि राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले के कई मामले में मुकदमों का सामना कर रहे हैं। साथ ही कई मामलों में सजा भी हो चुकी है। इसे लेकर उनकी पार्टी और परिवार हमेशा से बीजेपी और संघ पर आरोप लगाती रही है कि उसके विरोध के कारण ही लालू यादव को ये दिन देखना पड़ रहा है।


Previous Post Next Post