शिक्षक व कर्मचारियों को कैशलेस सुविधा के लिए राज्य मंत्री कौशल किशोर ने लिखा पत्र


लखनऊ (मानवी मीडिया) बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों को कैशलेस सुविधा दिए जाने हेतु आवासन एवं शहरी कार्य राज्य मंत्री  कौशल किशोर ने  मुख्यमंत्री उत्तरप्रदेश योगी आदित्यनाथ को लिखा पत्र


बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों ने ज्ञापन देकर शिक्षक व कर्मचारियों को कैशलेस सुविधा में शामिल किए जाने की मांग उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से  कौशल किशोर के माध्यम से किया*

राष्ट्रिय शैक्षिक महासंघ उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों से आए हुए प्रतिनिधियों ने ज्ञापन के माध्यम से सभी बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों को भी राज्य कर्मचारियों की तर्ज पर कैशलेस चिकित्सा सुविधा प्रदान कराने हेतु ज्ञापन दिया। 


कौशल किशोर  ने बेसिक शिक्षकों को आश्वासन दिया कि वह शिक्षकों का पक्ष उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  के समक्ष शीघ्र रखेंगे। उन्होंने कहा कि बेसिक शिक्षक का जीवन भी अमूल्य है। सभी शिक्षकों को राज्य का अभिन्न अंग मांगते हुए उनके जीवन की सुरक्षा हेतु अन्य राज्य कर्मचारियों व पेंशनरों को दी जाने वाली कैशलेस सुविधा देने हेतु मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश योगी आदित्यनाथ  से  दिलवाने का आग्रह करेंगे और शिक्षकों का पक्ष रखेंगे।       

 जैसा की सर्वविदित है कोरोना महामारी की अनिश्चितता में जीवन की सुरक्षा हेतु बेसिक शिक्षक पैसे के अभाव में इलाज न करा पाने के कारण अपनी जान गवाने  को मजबूर हुए हैं अतः उन्हें राज्य का हिस्सा मानते हुए ,चिकित्सा सुविधा प्रदान करते हुए कैस्लेश चिकित्सा में शामिल किया जाएं ।यह मांग बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षक लगातार कर रहे हैं परंतु 31 दिसंबर की घोषणा में उन्हें चिकित्सा सुविधा से वंचित रखा गया है।


ज्ञापन देने में लखनऊ मंडल अध्यक्ष महेश मिश्रा व कार्यकारी मंडल अध्यक्ष रीना त्रिपाठी, सहित लखनऊ जिला अध्यक्ष अनुराग राठौर ,संजय शुक्ला ,पंकज शुक्ला ,सौरव मिश्रा, संदीप बर्मा, विनायक मिश्रा ,अजय सिंह अनुराग सिंह, रेनू त्रिपाठी इत्यादि शिक्षक उपस्थित रहे।

Previous Post Next Post