मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव ने भाजपा की सदस्यता ली, कहा-- मेरे लिए राष्ट्रधर्म सबसे ऊपर


लखनऊ (
मानवी मीडिया) : उत्तर प्रदेश की राजनीति में आज का दिन काफी अहम है। समाजवादी पार्टी (सपा) संरक्षक मुलायम सिंह यादव के परिवार में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने बड़ी सेंधमारी की है। मुलायम की छोटी बहू अपर्णा यादव आज बीजेपी में शामिल हो गई हैं। अपर्णा के सपा से मोहभंग होने के पीछे की वजह लखनऊ कैंट सीट बताई जा रही है।

इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य भी मौजूद रहे। इस मौके पर अपर्णा यादव ने कहा कि मैं बीजेपी की विचारधारा से हमेशा से प्रभावित रही हूं। यादव ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री, सीएम योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य समेत सभी पदाधिकारियों का धन्यावाद करती हूं। मेरी क्षमता के अनुसार जो भी कार्य होंगे मैं करुंगी। उन्होंने कहा कि मेरे लिए राष्ट्रधर्म सबसे ऊपर है और अब मैं राष्ट्र का काम करने जा रही हूं।

वहीं केशव प्रसाद मौर्य ने इस मौके पर कहा कि अखिलेश यादव अपने घर में ही विफल हैं। मैं इस मौके पर इससे ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहता। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी ने हमारी सभी योजनाओं का क्रेडिट लेने की कोशिश की। लेकिन उन्होंने अबतक अपनी सीट का ऐलान नहीं की। मौर्य ने कहा कि बीजेपी ने मेरी और सीएम योगी आदित्यनाथ जी की सीट का ऐलान पहली ही लिस्ट में कर दिया। अखिलेश यादव ने कहा था कि उन्होंने विकास किया है। अगर उन्होंने इतना विकास किया है तो उन्हें सुरक्षित सीट ढूढने में इतना समय क्यों लग रहा है। चुनाव की अधिसूचना जारी होने के बाद भी उन्हें इतना समय लग रहा है।

वहीं स्वामी प्रसाद मौर्य समेत एक दर्जन से ज्यादा विधायकों के बीजेपी छोड़कर समाजवादी पार्टी में शामिल होने के बाद इसे बीजेपी के पलटवार के तौर पर देखा जा रहा है। बीजेपी ने अब मुलायम परिवार में सेंध लगा दी है। यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि पीएम मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ की कार्यशैली से प्रभावित होकर बहुत सारे लोग बीजेपी में शामिल होना चाहते हैं। इसी क्रम में अपर्णा यादव जी भी बीजेपी में शामिल हुईं हैं।

अपर्णा यादव मुलायम सिंह यादव के छोटे बेटे प्रतीक यादव की पत्नी हैं। अपर्णा ने साल 2017 में विधासभा चुनाव में लखनऊ कैंट से समाजवादी पार्टी की टिकट पर चुनाव लड़ा था। लेकिन वो बीजेपी की रीटा बहुगुणा जोशी से हार गई थीं। पिछले कुछ दिनों से अपर्णा के बीजेपी में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही थीं।

Previous Post Next Post