बकरे की जगह काट दी युवक की गर्दन जानें कैसे हुए ये


चित्तूर (मानवी मीडिया): आंध्र प्रदेश के चित्तूर से बलि देने के दौरान एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है। चित्तूर जिले के वलसापल्ले स्थित मंदिर में आस्था और परंपरा के नाम पर बेजुबान पशुओ की बलि दी जा रही थी लेकिन तभी कुछ ऐसा हुआ कि वहां हड़कंप मच गया। दरअसल संक्राति के अवसर पर मंदिर में बकरे की बलि चढ़ाई जानी थी लेकिन शख्स ने जानवर की जगह उसे पकड़ने वाले शख्स की ही गर्दन काट दी। जिसके बाद उस शख्स की मौत हो गई। इस घटना के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

ये पूरा मामला आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले का है जहां एक मंदिर में संक्राति के मौके पर बलि का आयोजन किया गया था। हर साल आयोजित किए जाने वाले इस कार्यक्रम में जानवरों की बलि दी जाती है। इस साल भी इसमें ऐसा ही कुछ होने जा रहा था लेकिन बलि के दौरान एक शख्स की मौत से हड़कंप मच गया। दरअसल बलि देने वाले शख्स ने बकरे की जगह उस शख्स की गर्दन काट दी जो उसे पकड़े हुए था।

बकरा काटने की जिम्मेदारी चलापथी नाम के एक शख्स को दी गई थी। बताया जा रहा है कि चलापथी उस समय नशे में था। इसलिए उसने बेसुधी में इस तरह वार किया कि बकरे को पकड़कर खड़े सुरेश नाम के शख्स की गर्दन कट गई। वार इतनी तेज था कि सुरेश खून से लथपथ होकर तुरंत जमीन पर गिर पड़ा। वहां मौजूद लोग उसे आनन-फानन में पास के सरकारी अस्पताल में ले गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने चलापथी को गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है। साथ ही चलापथी और सुरेश की आपसी रंजिश को लेकर भी सुराग खोजे जा रहे हैं।

Previous Post Next Post