योगी नेअयोध्या के 2,000 छात्र-छात्राओं को टैबलेट्स/स्मार्ट फोन्स वितरित

लखनऊ (मानवी मीडिया) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने आज जनपद अयोध्या में आयोजित एक कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं को टैबलेट्स/स्मार्ट फोन्स प्रदान किये। कार्यक्रम के दौरान 2,000 छात्र-छात्राओं को टैबलेट्स/स्मार्ट फोन्स वितरित किये गये। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री  ने नगर के प्रथम चरण के 10 चौराहों पर आटोमैटिक सिग्नल सिस्टम, 14 प्रमुख चौराहों पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम, 06 मुख्य चौराहों पर बी0एम0एस0 वैरिएबल मैसेज साइन की स्थापना तथा 04 प्रमुख स्थानों पर फ्री वाई-फाई की सुविधा के साथ ही राज्य स्मार्ट सिटी मिशन के अन्तर्गत 49.74 करोड़ रुपये की इण्टेलीजेण्ट टैªफिक मैनेजमेण्ट सिस्टम का लोकार्पण तथा अयोध्या विकास प्राधिकरण द्वारा अयोध्या धाम से 14 कोसी परिक्रमा मार्ग पर विकसित किये जाने वाली आवासीय योजना ‘कलश कुंज’ का शिलान्यास किया।

मुख्यमंत्री  ने कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के 01 करोड़ युवाओं को तकनीक रूप से दक्षता प्रदान करने के लिए टैबलेट/स्मार्ट फोन प्रदान किया जा रहा है। इस योजना का शुभारम्भ 25 दिसम्बर, 2021 को श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी  की जयन्ती के अवसर पर लखनऊ में 60,000 युवाओं को टैबलेट/स्मार्ट फोन प्रदान कर किया गया था। प्रदेश सरकार प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी जी के सुशासन के लक्ष्य को मूर्त रूप देने के लिए युवाओं को तकनीकी रूप सक्षम बनाने का कार्य कर रही है, जिससे प्रदेश के युवा अपनी प्रतिभा और ऊर्जा का लाभ समाज को प्रदान कर सकें।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि पिछले एक सप्ताह से वह प्रदेश के जनपद अलीगढ़, सहारनपुर, गोरखपुर, वाराणसी के बाद आज अयोध्या में युवाओं को टैबलेट/स्मार्ट फोन प्रदान करने आए हैं। प्रदेश सरकार ने निर्णय लिया कि इन युवाओं को टैबलेट/स्मार्ट फोन में ही अध्ययन के लिए निःशुल्क अच्छे कन्टेण्ट तथा डिजिटल एक्सेस की भी सुविधा प्रदान की जाएगी। इसके लिए प्रदेश सरकार ने इंफोसिस जैसी संस्था की मदद ली है, जिससे प्रदेश के युवा डिजिटल क्रांति का लाभ आसानी से प्राप्त कर सकें। विद्यार्थियांे को पाठ्यक्रम पूरा करने के बाद कैरियर से सम्बन्धित जानकारी मिल सके, इसकी भी व्यवस्था इन टैबलेट्स/स्मार्ट फोन्स में की गयी है। इन गैजेट्स की सहायता से प्रधानमंत्री स्टार्टअप योजना, प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना, एक जनपद-एक उत्पाद योजना, विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना जैसी विभिन्न योजनाओं के माध्यम से युवा अपने कैरियर को आगे बढ़ा पाएंगे।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि प्रधानमंत्री  मंशा के अनुरूप इसी सत्र से देश और प्रदेश में नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू की जा रही है। इन टैबलेट्स/स्मार्ट फोन्स के माध्यम से राष्ट्रीय शिक्षा नीति के सम्बन्ध में युवाओं को जानकारी मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि कोरोना कालखण्ड के दौरान राजस्थान के कोटा में विभिन्न संस्थाओं में कोचिंग करने वाले प्रदेश के छात्र-छात्राओं को राज्य सरकार ने सकुशल उनके घर भेजा। राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के सभी मण्डलों में मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के माध्यम से प्रतियोगी परीक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों प्रकार की कोचिंग की सुविधा प्रदान की गयी है। मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना से जुड़े 10,000 छात्र-छात्राओं को भी प्रदेश सरकार टैबलेट का लाभ दे रही है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री  ने 05 अगस्त, 2020 को अयोध्या मंे भगवान श्रीराम मन्दिर निर्माण का शिलान्यास किया। आध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित करते हुए अयोध्या के भौतिक विकास को नयी ऊंचाइयों तक पहुंचाया जा रहा है। अयोध्या में एक इण्टरनेशनल एयरपोर्ट की सुविधा मिलने वाली है। अयोध्या में एक विश्वस्तरीय नगरी बनेगी। बदलती हुई अयोध्या, बदलता हुआ उत्तर प्रदेश, नये भारत के नये उत्तर प्रदेश का संदेश दे रहा है। उन्होंने कहा कि कल केन्द्रीय मंत्री  नितिन गडकरी जी ने अयोध्या में 84 कोसी परिक्रमा मार्ग एवं नयी रिंग रोड का शुभारम्भ किया।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि प्रधानमंत्री  ने देश के प्रत्येक गांव को स्वच्छ बनाने के लिए ‘स्वच्छ भारत अभियान’ का शुभारम्भ किया था। आज प्रत्येक गांव स्वच्छता की नयी ऊंचाई पर खड़ा है। अगर नये मानक पर स्वच्छता है तो स्वास्थ्य पर खर्च स्वतः ही कम हो जाएगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में उत्तर प्रदेश दंगा मुक्त प्रदेश बना है। प्रदेश में रामराज की शुरुआत हो गयी है। विगत 05 वर्षाें में प्रदेश के 45 लाख गरीबों को अपना आवास प्रदान किया गया है। आजादी के बाद 70 वर्षाें में जितने लोगों को पूर्ववर्ती सरकारों द्वारा शौचालय, बिजली कनेक्शन, रसोई गैस कनेक्शन प्रदान किये गये, उससे अधिक वर्तमान प्रदेश सरकार ने मात्र 05 वर्षाें में प्रदान किये हैं।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा 15 से 18 आयु वर्ग के किशोरों के लिए निःशुल्क कोरोना वैक्सीन की व्यवस्था की गयी। प्रदेश के 12वीं तक के सभी स्कूल 16 जनवरी, 2022 तक बन्द कर दिये गये हैं। 15 वर्ष से ऊपर के प्रत्येक छात्र-छात्रा से कोरोना की वैक्सीन प्राप्त कर लेने की अपील करते हुए उन्हांेने कहा कि वैक्सीन ही कोरोना से बचाव का सबसे अच्छा सुरक्षा कवच है। वैक्सीनेशन कराकर स्वयं की सुरक्षा के साथ समाज की सुरक्षा करना हम सभी का दायित्व है।

इस अवसर पर अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

इसके उपरान्त, मुख्यमंत्री  ने आयुक्त सभागार मंे जनपद अयोध्या में कोविड प्रबन्धन की समीक्षा की। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए पूरी सतर्कता और सावधानी बरतने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी लोग कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें, मास्क लगाएं, सैनिटाइजर का उपयोग करें और सोशल डिस्टेसिंग का कड़ाई से पालन करें। जनपद में सभी पात्र व्यक्तियों का निश्चित समय सारणी के अनुसार कोरोना टीकाकरण सुनिश्चित किया जाए। समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री  को एक प्रस्तुतीकरण के माध्यम से जनपद अयोध्या में कोरोना संक्रमण से बचाव एवं उपचार की तैयारियों के बारे में जानकारी दी गयी।

इस अवसर पर मण्डलायुक्त  नवदीप रिनवा, पुलिस महानिदेशक  के0पी0 सिंह, जिलाधिकारी  नितीश कुमार तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

समीक्षा बैठक के पश्चात, मुख्यमंत्री  ने अयोध्या स्थित श्री हनुमान गढ़ी मन्दिर में दर्शन-पूजन किया। इसके उपरान्त उन्होंने श्रीरामलला मन्दिर में भी दर्शन-पूजन किया। उन्होंने श्रीरामलला मन्दिर के निर्माण कार्यांे को भी देखा

Previous Post Next Post