विनाश करने में भाजपा ने समाजवादी पार्टी को भी पीछे छोड़ा ::सतीश चंद्र मिश्र


 लखनऊ (मानवी मीडिया)लखनऊ की आरक्षित सीटों के लिए विशाल जनसभा का कार्यक्रम सतीश चंद्र मिश्र  की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। बहुजन समाज पार्टी और बहन  की नीतियों से प्रेरित होकर पश्चिम बंगाल से विवेकानंद फाउंडेशन के चेयरमैन अम्लान विश्वास  और विकास अग्रवाल  ने बहुजन समाज पार्टी की सदस्य्ता ग्रहण कर बहन  को उत्तर प्रदेश का पांचवी बार मुख्यमंत्री बनाने का संकल्प लिया। 

सपा से परेशान होकर जनता ने भाजपा को जिताया, जनता अब भाजपा असली चेहरा देख चुकी है और त्रस्त हो चुकी है। इस बार जनता ने अपना मन बना लिया है बहन  के शासन काल की कानून व्यवस्था को याद करते हुए जनता इस बार बहुजन समाज पार्टी की सरकार बना रही है।

उत्तर प्रदेश में जो भय का माहौल चल रहा है वह सपा और भाजपा की देन है। 

भाजपा की उपलब्धियां जमीन पर नहीं सिर्फ अखबारों में दिखाई पड़ती है। पैसा खर्च करके अखबारों के चार चार पन्नों में सिर्फ मुख्यमंत्री की फोटो छप रही है।

भाजपा सरकार में भ्रष्टाचार, अपराध, डकैती, लूटपाट, हत्याएं, रंगदारी, जमीनों का कब्जा, किसानों पर अत्याचार, फर्जी एनकाउंटर, दंगे फसाद इन्हीं चीजों का विकास हुआ।

भाजपा ने अपने झूठे अहंकार के चक्कर में 700 किसानों की बलि चढ़ा दी। 

मुख्यमंत्री उपयोगी हैं की अनुपयोगी यह तो जनता 2022 चुनाव में तय करेगी।

क्या बेरोजगारों ने भाजपा को इसलिए वोट दिया था कि उनको नौकरियां नहीं लाठियां खानी पड़ेगी।

मुख्यमंत्री  अपने आप को धर्म का ठेकेदार और सबसे बड़ा महात्मा बताते हैं। सीएम कुछ लोगों से अपना प्रचार कराते हैं कि हम आने वाले समय के प्रधानमंत्री हैं।

शिक्षकों को पापी बताते हैं सीएम योगी, सीएम कहते हैं कि पिछले जन्म में कुछ पाप किया होगा जो इस जन्म में शिक्षक बने हैं।शिक्षकों के प्रति इतनी हीन भावना रखने वाले मुख्यमंत्री को योगी कहलाने का हक नही । सीएम योगी अपने आपको महाराज कहलाना पसंद करते हैं।

सीएम योगी सभी जातियों पर अत्याचार कर रहे हैं और अपने जिस जाति से हैं सिर्फ उसी जाति विशेष के लोगों को बढ़ावा मिल रहा।

ब्राह्मणों का नाम सुनकर तो मुख्यमंत्री को उलझन होने लगती है। ना जाने ब्राह्मणों से क्यों इतनी चिढ़ रखते हैं मुख्यमंत्री योगी।

 खुशी दुबे और रेनू शर्मा ब्राह्मण महिलाएं  हैं। रेनू शर्मा को तब तक जेल से नहीं निकलने दिया गया जब तक उसकी मौत नहीं हो गई। यही हश्र ये ख़ुशी दुबे का भी करना चाहते हैं । 

कानपुर के एक व्यापारी को होटल में घुसकर के मार दिया जा रहा है।महोबा में एक ब्राह्मण व्यापारी की हत्या हुई एक आईपीएस का नाम आया लेकिन उसका आज तक कोई अता पता नहीं उसको भाजपा सरकार ने कहीं छुपा के रखा है। अगर कोई और होता तो तो उसका एनकाउंटर होता, उसके परिवार को उठा लिया जाता, उसके घरों पर बुलडोजर चल जाते, लेकिन उसने एक ब्राह्मण व्यापारी की हत्या की थी इसीलिए उस को संरक्षण दिया जा रहा है।

पूरे प्रदेश में वकील सुरक्षित नहीं, अगर वह मुखर होकर सरकार का विरोध कर रहे हैं तो उन्हें गोली मार दी जा रही है।

भाजपा सरकार में कोई भी वर्ग कोई भी इंसान सुरक्षित नहीं और यह नारा देते हैं कि योगी उपयोगी हैं। शर्म आनी चाहिए इन्हें।

प्रदेश का विनाश करने में भाजपा ने समाजवादी पार्टी को भी पीछे छोड़ा।

बसपा शासनकाल के परियोजनाओं पर चुनाव के पहले भाजपा वाले अपना पत्थर लगाने का काम कर रहे हैं।

गंगा एक्सप्रेस-वे की योजना बहन मायावती जी की थी लेकिन चुनाव के ठीक पहले अपना नाम लिखकर भाजपा वाले फीता काट रहे हैं।

मां गंगा की सफाई के नाम पर भाजपा सरकार हजारों करोड़ो रुपए बजट से निकाल कर अपने निजी काम के लिए इस्तेमाल कर रही है।

भाजपा वाले बसपा के कामों की नकल करने की बहुत कोशिश करते हैं लेकिन सफल नहीं हो पाते।

विकास करने के नाम पर सिर्फ और सिर्फ पत्थर लगा रही है भाजपा सरकार। चुनाव के पहले  भाजपा को परियोजनाओं और शिलान्यास  की याद क्यों आ रही है।

बहन जी की सरकार बनते ही योजनाएं शुरू हो चुकी थी और सरकार खत्म होते-होते सभी योजनाओं को पूरा करके जनता के सामने रख दिया गया था। 29500 डॉक्टर अंबेडकर ग्राम का समग्र विकास किया बहन जी ने,29000 प्राइमरी स्कूल,5500 जूनियर हाईस्कूल,2500 हाई स्कूल,आधा दर्जन यूनिवर्सिटी, अंतर्राष्ट्रीय अरबी फारसी यूनिवर्सिटी, विकलांग जनों कि डॉ शकुंतला मिश्रा यूनिवर्सिटी, मेडिकल कॉलेज, हॉस्पिटल, 23 नए जिलों का सामग्र विकास यह सभी कार्य बहन  के ही शासनकाल में बहन द्वारा किए गए हैं।

कोरोना काल के दौरान हजारों की संख्या में लोगों की लचर स्वास्थ्य व्यवस्था और ऑक्सीजन की कमी से मौतें हुई और सरकार के लोग कहते हैं की ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत नहीं हुई।

कोरोना काल के समय जब जनता सड़कों पर त्रस्त थी तब भाजपा वाले घरों पर आराम कर रहे थे।

भाजपा सरकार खुद पेपर लिख कर आती है क्योंकि है बेरोजगारों को रोजगार नहीं देना चाहती यह ठेकेदारों के जरिए रोजगार देकर पैसा कमाना चाहती है।

इस कार्यक्रम में पुर्व मंत्री नकुल दुबे, डॉ अशोक सिद्धार्थ राज सभा सांसद एवं मुख्य सेक्टर प्रभारी लखनऊ मंडल, भीमराव अंबेडकर मुख्य सेक्टर प्रभारी लखनऊ व कानपुर मंडल एवं सदस्य विधान परिषद उत्तर प्रदेश, प्रभारी प्रत्याशी आशीष चंद्र श्रीवास्तव मध्य विधानसभा लखनऊ, अखिलेश अंबेडकर जिला अध्यक्ष बसपा लखनऊ, देवेंद्र कुमार पासी प्रत्याशी मोहनलालगंज विधानसभा सुरक्षित, कुलदीप रावत सेक्टर प्रभारी लखनऊ मंडल, फैजान खान संयोजक लखनऊ मंडल एवं राष्ट्रीय प्रवक्ता बीएसपी, विनय चौधरी प्रत्याशी प्रभारी मोहान विधानसभा उन्नाव सुरक्षित, नागेश्वर त्रिवेदी सेक्टर संयोजक लखनऊ मंडल, जलीस खान प्रत्यशी सरोजनी नगर विधानसभा मंच पर मौजुद रहे ।

Previous Post Next Post