डिप्लोमा सेक्टर में प्लेसमेंट के लिए गैर-सरकारी या फाउण्डेशन को नालेज पार्टनर जायेगा बनाया


लखनऊः (मानवी मीडिया) उत्तर प्रदेश के प्राविधिक शिक्षा मंत्री, श्री जितिन प्रसाद के कुशल दिशा-निर्देशन में  प्राविधिक शिक्षा विभाग द्वारा डिप्लोमा सेक्टर में बेहतर प्लेसमेण्ट के लिए उद्योग समन्वय में सुधार, इंटर्नशिप, औद्योगिक एक्सपोजर को बढ़ावा देने, संस्थानों के बुनियादी ढाँचे में सुधार करने (बेंचमार्क एआईसीटीई मानदण्ड और राज्य संस्थान रेटिंग फ्रेमवर्क), प्रशिक्षण में सुधार करने के लिए किसी द्विपक्षीय/बहुपक्षीय संस्थान, निजी क्षेत्र, अनुसंधान संस्थान, गैर-सरकारी/गैर-लाभकारी संगठन, समुदाय-आधारित संगठन अथवा फाउण्डेशन को नालेज पार्टनर बनाने के लिए राज्य सरकार की ओर से एक समझौता ज्ञापन (डवन्) शीघ्र ही हस्ताक्षरित किया जाना प्रस्तावित है।

प्राविधिक शिक्षा विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार उद्यमिता विकास और समर्थन कार्यक्रम, डेटा समर्थित निगरानी और मूल्यांकन ढाँचा विकसित करने तथा परिणाम आधारित दृष्टिकोण को बढ़ावा देने, छात्रों के सीखने के अनुभव को आकर्षक बनाने व अधिक सीखने हेतु प्रोत्साहित करने में यह समझौता ज्ञापन बहुत महत्वपूर्ण सिद्ध होगा। पालीटेक्निक को युवाओं के लिए आकांक्षी बनाने तथा विशेष रूप से महिलाओं के नामांकन में सुधार करने हेतु इस क्षेत्र में कार्य करने वाले को नालेज पार्टनर बनाया जायेगा
Previous Post Next Post