लखीमपुर नरसंहार के आरोपी टेनी को बचा रहे हैं मोदी-अजय कुमार लल्लू

लखनऊ (मानवी मीडिया)लखीमपुर के आरोपी केंद्रीय गृहराज्यमंत्री अजय मिश्र नेटी की बरख़ास्तगी की मांग को लेकर कांग्रेस के विधायकों ने आज लगातार दूसरे दिन विधानसभा तक मार्च किया। मार्च में बड़ी तादाद में कांग्रेस के कार्यकर्ता भी शामिल हुए। पुलिस ने इस मार्च को रोकने की कोशिश की लेकिन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष  अजय कुमार लल्लू के नेतृत्व में मार्च विधानसभा तक गया जहां मुख्यद्वार पर कांग्रेस विधानमंडल दल के सदस्यों ने टेनी की बरखास्तगी की मांग करते हुए जमकर नारेबाजी की और धरना दिया। आज पूरे प्रदेश के जिला मुख्यालयों पर कांग्रेस ने टेनी की बर्खास्तगी को लेकर प्रदर्शन किया।

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि एसआईटी की रिपोर्ट ने साबित किया है कि लखीमपुर नरसंहार एक साजिश का नतीजा था लेकिन इस साजिश के सूत्रधार केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह बचाने की कोशिश कर रहे हैं। कांग्रेस विधायकों ने टेनी की गिरफ्तारी को लेकर कल भी विधानसभा मार्च किया था और आज पूरे प्रदेश के जिला मुख्यालय पर कांग्रेस कमेटियों की ओर से प्रदर्शन किये जा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष  अजय कुमार लल्लू ने कहा कि भाजपा की केन्द्र एवं प्रदेश की सरकार अजय कुमार मिश्रा टेनी को अनैतिक संरक्षण दे रही है। लखनऊ में प्रधानमंत्री ने टेनी को मंच पर अपने साथ रखा और लखीमपुर खीरी में मारे गये किसानों के परिजनों के प्रति संवेदना के एक शब्द भी नहीं कहा। गृहमंत्री  अमित शाह एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ ने भी अजय कुमार मिश्रा टेनी को मंच पर अपने साथ रखकर किसानों के जले पर नमक छिड़कने का काम किया। उन्होंने कहा कि सत्ता के संरक्षण की वजह से आरापितों का मनोबल आसमान पर है। सत्ता का अहंकार सिर चढ़कर बोल रहा है। यही वजह है कि सवाल पूछने वाले टीवी पत्रकार को भी धमकाने से गृहराज्यमंत्री बाज़ नहीं आये।  गृह राज्य मंत्री की बर्खास्तगी के बगैर पीड़ितों को न्याय मिल पाना असंभव है। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष  राहुल गांधी जी ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री की बर्खास्तगी की मांग की है। उनके हटाये जाने तक कांग्रेस पार्टी का विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा।
इस प्रदर्शन में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष  अजय कुमार लल्लू के अलावा कांग्रेस विधानमंडल दल नेता  आराधना मिश्रा मोना, नेता विधान परिषद  दीपक सिंह, कांग्रेस विधायक  मसूद अख्तर, नरेश सैनी के अलावा  सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ता शामिल हुए। कांग्रेस प्रवक्ता उमाशंकर पांडेय ने बताया कि सुबह जीपीओं स्थित गांधी प्रतिमा पर धरना देने के बाद विधान भवन कांग्रेस विधायकों का पैदल मार्च शुरू हुआ। इस मार्च को पुलिस ने रोकने की कोशिश की। यहां तक कि विधायकों के साथ भी अभद्रता की गयी जिसकी जितनी निंदा की जाए, कम है। कांग्रेस का ये आंदोलन लगातार जारी रहेगा। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर आज उत्तर प्रदेश के हर जिला मुख्यालय पर कांग्रेस जनों ने गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी की बर्खास्तगी  की मांग को लेकर प्रदर्शन किया।

Previous Post Next Post