एमएसपी की बात तो सबने की, इसको ईमानदारी से लागू करने का काम प्रधानमंत्री मोदी ने की


लखनऊ (मानवी मीडिया): उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को किसान दिवस के अवसर पर किसानों की समृद्धि और खुशहाली की कामना करते हुये कहा कि इस लक्ष्य को पाने के लिये केन्द्र की मोदी सरकार ने ईमानदार कोशिश की है, जबकि पिछली सरकारें सिर्फ कोरी बातें ही करती रहीं। योगी ने यहां आयोजित किसान दिवस समारोह में किसानों, कृषि उद्यमियों और कृषि वैज्ञानिकों को सम्मानित करते हुये कहा, “हर किसान का सम्मान हो, अन्नदाता खुशी के साथ आगे बढ़ सके। किसानों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की बात तो सबने की, लेकिन इसको ईमानदारी से लागू करने का काम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया।”

योगी ने किसानों की समृद्धि के लिये मोदी सरकार के प्रमुख कामों का उल्लेख करते हुये कहा कि 2018 में फसलों की लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य सुनिश्चित करने की व्यवस्था को लागू करने का काम मोदी सरकार ने ही किया। उन्होंने कहा कि किसान कल्याण के लिये मोदी सरकार द्वारा लागू किये गये फैसलों को उत्तर प्रदेश में भी भाजपा सरकार ने पूरी शिद्दत से लागू किया। मुख्यमंत्री योगी ने कहा, “जब केंद्र और राज्य सरकार मिलकर काम करती हैं तो ऐसे ही सकारात्मक परिणाम सामने आते हैं।”

योगी ने कहा, “पहले किसान कर्ज के बोझ तले इतना दब जाते थे कि उनके सामने आत्महत्या ही एकमात्र विकल्प बच जाता था। लेकिन 2017 में जब उत्तर प्रदेश में हमारी सरकार बनी तो हमने कर्जमाफी करके उन किसानों का बोझ हल्का किया।” उत्तर प्रदेश में गन्ना किसानों की समस्याओं के समाधान के लिये राज्य सरकार के क्रातिकारी कामों का उल्लेख करते हुये योगी ने कहा, “आज जब हम चौधरी साहब की 119वीं जयंती के कार्यक्रम में यहां आए हैं। तो मुझे ये बताते हुए प्रसन्नता है कि चौधरी साहब की कर्मभूमि पर चीनी मिल की मांग पिछले 30 वर्षों से हो रही थी। जर्जर चीनी मिलों को दुरुस्त कराने की मांग हो रही थी। किसान परेशान थे, पिछली सरकारें नहीं कर पाईं, लेकिन हमारी सरकार ने रमाला में एक नई चीनी मिल लगा कर के किसानों के जीवन में परिवर्तन लाने का काम किया है।”

Previous Post Next Post