उप्र में भाजपा 300 से अधिक सीट जीतकर बनाएगी सरकार: अमित शाह

 


कासगंज (मानवी मीडिया): केन्द्रीय गृह मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने दावा किया कि उत्तर प्रदेश को माफिया राज से मुक्त करा कर विकास के रास्ते में ले जाने वाली भाजपा 2022 के विधानसभा चुनाव में 300 से अधिक सीटें जीत कर एक बार फिर से सरकार बनायेगी।

कासगंज के बारह पत्थर मैदान में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुये शाह ने रविवार को कहा कि 2017 से पहले राज्य में माफिया तत्वों का साम्राज्य था। आम आदमी को समाजवादी पार्टी (सपा) के गुंडे परेशान करते थे। हर जिले में एक दादा होता था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार ने अराजक तत्वों पर नकेल कसी जिसका नतीजा है कि आज कोई दादा नही है। पांच साल के अंदर ही सारे गुंडे यूपी से पलायन कर गए है।

पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को याद करते हुये उन्होने कहा “ बृज क्षेत्र भाजपा का गढ़ था, है और रहेगा। ये कल्याण सिंह की भूमि है। ये तुलसीदास की जन्म भूमि है। असुरों के संहार के लिए वराह भगवान ने यही जन्म लिया था। ये महावीर सिंह राठौर की जन्म भूमि है। कल्याण सिंह अगर न होते 2014,2017 और 2019 में इतना समर्थन न मिलता। आज मैं यहाँ आया हूँ तब बाबू जी नही है। बाबू जी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री की कुर्सी को ठुकरा कर श्री राम मंदिर का मार्ग प्रशस्त किया था।

”समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती पर निशाना साधते हुये उन्होने कहा “ उत्तर प्रदेश में बुआ बबुआ ने जो सरकारें चलाई,उससे आम आदमी त्रस्त हो गया। जाति और धर्म के नाम पर इन्होने सरकार बनायी मगर समाज के सभी वर्ग के लोग इनके शासनकाल में छले गये। ”

उन्होने कहा कि प्रदेश की जनता 2014 के लोकसभा चुनाव,2017 के विधानसभा चुनाव और 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा का आशीर्वाद देने के बाद अब 2022 में पार्टी को जीत का चौका लगाने के लिये तैयार है। राम मंदिर आंदोलन में गोलियां चलाने वालों को बाहर का रास्ता दिखाने वाली जनता ने भाजपा को पूर्ण बहुमत देकर विश्वास व्यक्त किया और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अयोध्या में श्री राम मंदिर का शिलान्यास किया। इससे पता चलता है कि जनता मंदिर का विरोध करने वाले और गोली चलाने वालों के साथ नहीं बल्कि मंदिर निर्माण कराने वालों के साथ है। औरगंजेब के समय से वाराणसी में बाबा विश्वनाथ का दरबार उपेक्षा का शिकार था जिसे प्रधानमंत्री ने काशी विश्वनाथ कारिडोर का निर्माण कर भव्यता प्रदान की।

गृहमंत्री ने कहा कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 उखाड़ कर फेंक दी और पलायन करने वाले कश्मीरी पंडितों को उनकी जमीने वापस दिला रही है। धारा 370 हटाने का विरोध सपा, बसपा और कांग्रेस ने किया। ऐसे दलों पर जनता कतई विश्वास नहीं कर सकती। पहले आतंकवादी हमारे जवानों को मारकर चले जाते थे और कुछ नही होता था मगर मोदी सरकार ने सीमा पार कर सर्जिकल स्ट्राइक करके पाकिस्तान को सबक सिखाया।

उन्होने कहा कि अखिलेश सरकार के कार्यकाल में यूपी दंगों की आग में झुलसता रहा और 700 से ज्यादा दंगे हुये जबकि योगी सरकार के कार्यकाल में प्रदेश में सर्वथा शांति रही। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सभी कोरोना पीड़ितों के लिए 130 करोड़ टीका लगाने का काम किया। अब 15 साल से अधिक आयु वालों को टीका लगाने की घोषणा की है।

पिछली सरकारों ने 17 साल मे केवल दो एक्सप्रेस वे बनाये जबकि भाजपा ने साढ़े चार साल में पांच एक्सप्रेस वे की सौगात दी। उन्होने 17 साल में 12 मेडिकल कॉलेज बनाये जबकि भाजपा ने चार साल में 30 मेडिकल कालेज बनाये। 20 चीनी मिलों का आधुनिकीकरण और विस्तार किया है। गन्ना किसानों का बकाया भुगतान करने का काम बीजेपी सरकार ने किया है। भाजपा के रणनीतिकार ने अपने उदबोधन का समापन जनता से 300 से अधिक सीटों में जीत और सपा बसपा कांग्रेस प्रत्याशियों की जमानत जब्त कराने के संकल्प के साथ किया।

Previous Post Next Post