सुप्रीम कोर्ट पहुंचे सीबीएसई आईसीएसई I के छात्र, ऑनलाइन एग्जाम की मांग


नई दिल्ली (मानवी मीडिया): केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड और काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन के कक्षा 10 और 12 के छात्रों ने टर्म 1 परीक्षाओं को केवल ऑफलाइन मोड में कराने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। छह याचिकाकर्ताओं ने तर्क दिया है कि परीक्षा हाइब्रिड मोड- ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों में आयोजित की जानी चाहिए। सीबीएसई और सीआईएससीई दोनों ने 2021-22 की बोर्ड परीक्षा दो बार आयोजित करने का फैसला किया है। 

सीबीएसई टर्म 1 बोर्ड परीक्षा 16 नवंबर से माइनर पेपर के साथ शुरू होगी और आईसीएसई (कक्षा 10) की परीक्षा 22 नवंबर से शुरू होगी। याचिका में सीबीएसई और सीआईएससीई दोनों के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से कक्षा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा आयोजित करने के लिए शीर्ष अदालत से तत्काल निर्देश देने की मांग की गई है। छात्रों की मांग है कि जैसा कि देश में फिर से कोविड 19 के मामले बढ़ रहे हैं, इसलिए ऑनलाइन मोड में परीक्षा देने का विकल्प होना चाहिए। इस याचिका को एडवोकेट सुमंत नुकाला ने दायर किया है।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में 40 घंटे तक नहीं थमेगी बारिश:मौसम वैज्ञानिक