बाराबंकी::नाला निर्माण में अभियंताओं की सह पर ठेकेदार ने खेले कई तरह के खेल


बाराबंकी (मानवी मीडिया)अभियंताओं की सह पर नाला निर्माण ठेकेदार ने कई तरह के खेल खेल डालें । अब वही खेल विवाद के घेरे में आ गया है । 

बताया जाता है कि नाला निर्माण के लिए खोदा गया नाला का मलबा व मिट्टी को बेचकर स्वार्थ पूर्ति हुई, इतना ही नहीं समाजसेवी द्वारा अपने निजी पैसे से पंचशील कॉलोनी में आवागमन की सुविधा के लिए चारों ओर खड़ंजा लगवाया था । नाला खुदाई के दौरान खड़ंजा की निकली कई हजार अव्वल ईट एवं मिट्टी बेचने के अलावा बनाए जा रहे ,सैंमवेल , निर्माण में लगाकर इतिश्री कर ली । जबकि  निर्माण में लगने वाली ईट खरीद कर लगाई जानी चाहिए ।

नाला निर्माण के बाद दोनों और बची जगह को ठेकेदार द्वारा उसकी भराई  करानी चाहिए थी ।लेकिन जिसकी भराई परेशान जनता ने स्वयं की । इसकी सच्चाई आज भी इंजीनियर स्वयं देख सकते हैं । 

  ठेकेदार द्वारा नाला निर्माण  घटिया स्तर का कराए जाने एवं  निर्माण सामग्री भी मानक के अनुरूप नहीं लगाया जाना चर्चा का विषय बना है। इतना ही नहीं नाले का निर्माण कहीं ऊंचा कहीं नीचा  है ।इससे समस्या ज्यों की त्यों बनी रहेगी ।कई जगह पर नाला का निर्माण इतना नीचे कर दिया गया कि पानी का बहाव अवरुद्ध है। मोहारी पुरवा से आने वाला पानी सड़क पर जमा है ।

लंबे समय जलभराव से परेशान होकर स्थानीय जनता ने चंदा लगाकर ,स्वयं मलवा डलवा कर पटाई करा  रहे हैं । इसे फोटो में  स्पष्ट देखा जा सकता है । 

विभाग के इंजीनियर अपनी मौन सहमति ना देकर समय-समय पर इसका निरीक्षण कराते रहते तो ऐसी समस्या ना होती ।

अब देखना यह है इंजीनियर जांच कर कार्य को सही करते हैं अथवा पहले की तरह नजरअंदाज कर लूट खसोट का मौका देते हैं !!

 इस मामले में क्या होगा या तो वक्त ही बताएगा ?

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में 40 घंटे तक नहीं थमेगी बारिश:मौसम वैज्ञानिक