प्रधानमंत्री मोदी को देखने व सुनने उमड़ी जनता


सुलतानपुर (मानवी मीडिया): पूर्वांचंल एक्सप्रेस वे का लोकार्पण करने कुछ ही देर में सुलतानपुर पहुंच रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की एक झलक पाने को बेताव लोगों की भीड़ कार्यक्रम स्थल पर लगातार पहुंच रही है।

जिले में जयसिंहपुर तहसील के अरवल कीरी करवत गांव में स्थित कार्यक्रम स्थल पर तिल रखने की जगह नहीं बची है। पीएम मोदी 1320 बजे सी 130 जे विमान से कार्यक्रम स्थल पहुंचेगे जहां बहुप्रतीक्षित पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का लोकार्पण करने के पश्चात वह 1335 बजे एक जनसभा को संबोधित करेंगे। इसके बाद वायुसेना का एयर शो होगा जिसमें 1450 बजे मिराज 2000 विमान एक्सप्रेसवे को चूमेंगे जिसके बाद मालवाहन एएन 32 विमान पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर उतर कर एक्सप्रेस वे की मजबूती का प्रमाण देंगे। तीन बजकर पांच मिनट पर एक मिराज,दो सुखोई और दो जगुआर विमान फ्लाईपास्ट करेंगे और हवा में करतब दिखायेंगे। इसके बाद तीन सूर्य किरण विमान और दो सुखोई विमान आसमान में अपनी छटा बिखेरेंगे। पीएम मोदी करीब 1545 बजे सी 130 जे विमान से दिल्ली लौट जायेंगे।

सभा स्थल पर लाखों लोग अपने प्रिय नेता को देखने सुनने और रणकौशल में पारंगत वायुसेना के हुनर को देखने के लिये जमा है। इस ऐतिहासिक पल को कवर करने के लिये देश दुनिया के पत्रकार छायाकर इंतजार कर रहे है। मंच पर प्रदेश के औद्योगिक विकास राज्य मंत्री धर्मवीर प्रजापति व्यवस्था का बारीकी से जांच पड़ताल कर रहे हैं। मंच से व्यवस्था में लगे कार्यकर्ताओ को जनता को व्यवस्थित ढंग से बैठाने का आह्वान कर रहे हैं। कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना,चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, धर्मवीर प्रजापति और सुलतानपुर की सांसद मेनका गांधी मौजूद हैं।

करीब 22 हजार 500 करोड़ रूपये की लागत से बन कर तैयार 341 किमी लंबे सिक्स लेन का पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पूर्वी उत्तर प्रदेश को पिछड़ेपन के दंश से उबारने में मदद करेगा। यह एक्सप्रेस वे लखनऊ से शुरू होकर बाराबंकी,अमेठी , अयोध्या,सुलतानपुर,अंबेडकरनगर,आजमगढ,मऊ होते हुये बिहार सीमा के नजदीक गाजीपुर तक जायेगा। एक्सप्रेसवे पर आपात स्थिति में लड़ाकू विमानों की लैडिंग के लिये हवाई पट्टी बनायी गयी है। एक्सप्रेसवे का संपर्क आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे और यमुना एक्सप्रेस वे से किया गया है जिससे पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोगों को दिल्ली तक की यात्रा करने में सुविधा के साथ साथ समय की बचत होगी।

Previous Post Next Post