प्रतिबंध के बावजूद रात भर चले पटाखे- धुआं-धुआं हो गया आसमान

 

नई दिल्ली (मानवी मीडिया): दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में पटाखों पर बैन के बावजूद खूब आतिशबाजी हुई। दिवाली के बाद पूरे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में शुक्रवार सुबह हवा का स्तर गंभीर श्रेणी में पहुंच गया। आतिशबाजी पर सरकार द्वारा लगाए गए प्रतिबंध की जमकर अवहेलना की गई और गुरुवार रात को दिल्ली और उसके आसपास के क्षेत्रों का आसमान धुएं के गुबार से ढंक गया, जिसके चलते शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक 'गंभीर श्रेणी' में पहुंच गया। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के बीच वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) जो शाम चार बजे 382 था, वह रात आठ बजे तक बढ़कर 'गंभीर श्रेणी' में पहुंच गया क्योंकि कम तापमान और हवा की गति मंद रहने के कारण प्रदूषक तत्वों का बिखराव नहीं हो सका।
(फाइल फोटो)     सुबह-सुबह जब दिल्लीवालों की नींद खुली तो रात के पटाखों का सुबह में भयंकर असर दिखा। शुक्रवार की सुबह दिल्ली में चारों तरफ धुआं-धुआं सा नजारा दिखा। दिवाली के बाद वाली सुबह राजधानी दिल्ली कोहरे की चादर में लिपटी दिखी। सड़कों पर गाड़ियों को कोहरे की वजह से काफी परेशानी हो रही है। दिल्ली की हवा बेहद खराब श्रेणी में पहुंच चुकी है। अक्षरधाम मंदिर के पास सुबह-सुबह का नजारा कुछ ऐसा था।

दिल्ली-उत्तर प्रदेश :भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या ने बनाया नया विश्व रिकॉर्ड, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में फिर दर्ज हुआ दीपोत्सवयोगी ने किये हनुमानगढ़ी तथा श्रीरामजन्मभूमि मंदिर के दर्शनदिल्ली सरकार बना रही दुनिया का पहला ऐसा पोर्टल, जहां दिल्ली का हर कारोबारी अपना प्रोडक्ट डिस्प्ले करके दुनियाभर में बेच सकेगा : अरविंद केजरीवालElection 2022: अखिलेश यादव ने किया ऐलान, चाचा शिवपाल से चुनावी गठबंधन कर लड़ेंगे चुनावकारोबारियों को केजरीवाल सरकार का तोहफा, 'दिल्ली बाजार' नाम से पोर्टल होगा शुरू- लोकल दुकानों का सामान भी बिकेगायूपी में भाजपा का कुशासन खत्म करेगी दिवाली: अखिलेश यादव 

धड़ल्ले से पटाखे जलाने के चलते रात नौ बजे के बाद दिल्ली के पड़ोसी शहरों फरीदाबाद में एक्यूआई 424, गाजियाबाद में 442, गुरुग्राम में 423 और नोएडा में 431 दर्ज किया गया, जो कि गंभीर श्रेणी में आता है। दिल्ली और इसके आसपास के कई क्षेत्रों के लोगों ने गले में खराश और आंखों से पानी आने की शिकायतें कीं। राष्ट्रीय राजधानी में एक जनवरी 2022 तक पटाखों पर पूर्ण प्रतिबंध के बावजूद दक्षिण दिल्ली के लाजपत नगर, उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी, पश्चिमी दिल्ली के पश्चिम विहार और पूर्वी दिल्ली के शाहदरा में शाम सात बजे से पटाखे जलाए जाने के मामले सामने आए। वहीं, गुरुग्राम और फरीदाबाद में उच्च-तीव्रता के पटाखे जलाये गए। हरियाणा सरकार ने भी दिल्ली से सटे क्षेत्रों समेत 14 जिलों में पटाखे की बिक्री और उपयोग पर प्रतिबंध लगाया था।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में 40 घंटे तक नहीं थमेगी बारिश:मौसम वैज्ञानिक