पब्लिक वाईफाई सर्विस लेना ,कितना खतरनाक साबित हो सकता


 नई दिल्ली (मानवी मीडिया): यदि आप भी पब्लिक वाईफाई का इस्तेमाल करते है तों ये खबर आपके लिए है। पब्लिक वाईफाई की मदद से आप बिना मोबाइल डाटा खर्च किए इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि पब्लिक वाईफाई सर्विस लेना आपके लिए कितना खतरनाक साबित हो सकता है? जी हां, पब्लिक वाईफाई के जरिए हैकर्स बहुत आसानी से आपका फोन हैक कर सकते हैं। दरअसल, हैकर्स की नजर पब्लिक वाईफाई से कनेक्ट स्मार्टफोन पर होती है और वह आपका स्मार्टफोन हैक कर सकते हैं. जिसके बाद हैकर्स आपकी एक्टिविटीज को ट्रैक कर सकते हैं। ऐसे में आपका निजी डाटा चोरी होने का डर बना रहा है।

कई बार हैकर्स वाईफाई को ओपन छोड़कर इसे बेट की तरह उपयोग करते हैं. जैसे ही आप बिना पासवर्ड के पब्लिक वाईफाई को फोन में कनेक्ट करते हैं तो हैकर्स आपके स्मार्टफोन का मैक एड्रेस और आईपी एड्रेस राउटर में दर्ज कर लेते हैं। जिसके बाद डाटा पैकेट्स के रूप में ट्रांसफर होता है और हैकर्स इन पैकेट्स को इंटरनसेप्ट करके आपकी ब्राउजिंग हिस्ट्री चेक कर सकते हैं। हैकर्स नेटवर्क स्निफिंग के माध्यम से विजिबज ट्रैफिक को आसानी से इंटरसेप्ट कर लेते हैं। अब तक सामने आई रिपोर्ट्स के अनुसार उन राउटर को हैक करना सबसे आसान होता है जिनमें WEP सिक्योरिटी होती है। WEP आपको पुरोन राउटर्स में मिलेगी। लेकिन अब इसे डिफॉल्ट कर दिया गया है। जिसके बाद वाईफाई को हैक करना थोड़ा मुश्किल है। अगर आप भी पब्लिक वाईफाई का उपयोग करते हैं तो कुछ बातों को ध्यान में रखना बेहद जरूरी है

इन बातों का रखें खास ध्यान

पब्लिक वाईफाई का उपयोग करते समय सबसे पहले सभी शेयरिंग को बंद कर दें।

पब्लिक वाईफाई कनेक्ट करने से पहले यह जरूर पता करें कि किस नाम से वाईफाई सर्विस दी जा रही है।

गलती से भी ऑटोमैटिक वाईफाई कनेक्ट ना करें, बे​हतर होगा कि पब्लिक वाईफाई कनेक्ट करने से पहले चेक कर लें।

यदि पब्लिक वाईफाई का उपयोग करने के लिए आपने ईमेल आईडी दी है तो उसमें यूनिक पासवर्ड की ही इस्तेमाल करें।

पब्लिक वाईफाई का उपयोग करते समय कभी भी किसी प्रकार की ट्रांजेक्शन न करें। क्योंकि हैकर्स आपकी निजी जानकारी हैक कर सकते हैं।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में 40 घंटे तक नहीं थमेगी बारिश:मौसम वैज्ञानिक