3000 एचपी केप गेज रेल इंजन का मोजांबिक में सफल संचालन


लखनऊ (मानवी मीडिया)आत्मनिर्भर भारत की भावना के तहत, इन केप गेज डीजल लोको को भारत में निर्मित और भारत द्वारा वित्तपोषित किया गया है। यह बरेका का पहला AC-AC ट्रैक्शन सिस्टम 3000 HP, केप गेज लोको है।

ये लोकोमोटिव एसी-एसी ट्रैक्शन सिस्टम, कंप्यूटर नियंत्रित ब्रेक सिस्टम आदि जैसी अत्याधुनिक तकनीक से सुसज्जित हैं । चालक दल के आराम को बढ़ाने के लिए, लोकोमोटिव के कैब में एयर कंडीशनिंग, हॉट प्लेट, रेफ्रिजरेटर आदि जैसी सुविधाएँ प्रदान की गई हैं ।

महाप्रबंधक अंजली गोयल ने इस ऐतिहासिक उपलब्धी को बरेका के अधिकारियों एवं कर्मचारियों की कड़ी मेहनत एवं लगन का परिणाम बताया 

बरेका निर्मित 3000 एचपी केप गेज रेल इंजन मोजांबिक में सफलतापूर्वक चालू कर दिया गया है । विदित हो कि बनारस रेल इंजन कारखाना ने मोजाम्बिक को छह 3000 एचपी सीजी इंजनों की आपूर्ति के लिए दिनांक 02 नवम्बर 2020 को राइटस के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर  बरेका ने किया था।

 9 महीने की अवधि में लोकोमोटिव निर्माण पूरा किया और COVID महामारी के बाद भी  21 अगस्त 2021 तक सभी छह इंजनों को मोज़ाम्बिक भेज दिया गया । 

बरेका से एक तकनीकी टीम  दिनांक 15.10.21 को मोजाम्बिक (बीरा)  में उपलब्ध इंजनों को चालू करने के लिए भेजा गया था। जिसे बरेका की कमीशनिंग टीम ने दिनांक 02.11.21 को सीएफएम/मोजाम्बिक की पूर्ण संतुष्टि के लिए  उपलब्ध  तीनों  इंजनों को सफलतापूर्वक चालू कर दिया।

उल्लेखनीय है कि बनारस रेल इंजन कारखाना में दिनांक 10 मार्च, 2021 को 3000 एचपी केप गेज मोजांबिक को निर्यात हेतु 02 रेल इंजन को हरी झंडी दिखाकर केंद्रीय रेल, वाणिज्य और उद्योग और उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री, श्री पीयूष गोयल एवं श्री जनेफर अब्दुलाई परिवहन और संचार मंत्री, मोजाम्बिक सरकार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से रवाना किया। 

आत्मनिर्भर भारत की भावना के तहत, इन केप गेज डीजल लोको को भारत में निर्मित और भारत द्वारा वित्तपोषित किया गया है। यह बरेका का पहला AC-AC ट्रैक्शन सिस्टम 3000 HP, केप गेज लोको है । इन लोकोमोटिव की क्षमता 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से 2255 टन है। इंजन का सबसे महत्वपूर्ण आइटम यानी क्रैंक-केस असेंबली बरेका में इन-हाउस तैयार किया गया है । ये लोकोमोटिव एसी-एसी ट्रैक्शन सिस्टम, कंप्यूटर नियंत्रित ब्रेक सिस्टम आदि जैसी अत्याधुनिक तकनीक से सुसज्जित हैं । चालक दल के आराम को बढ़ाने के लिए, लोकोमोटिव के कैब में एयर कंडीशनिंग, हॉट प्लेट, रेफ्रिजरेटर आदि जैसी सुविधाएँ प्रदान की गई हैं ।

महाप्रबंधक अंजली गोयल ने इस ऐतिहासिक उपलब्धि को बरेका के अधिकारियों एवं कर्मचारियों की कड़ी मेहनत एवं लगन का परिणाम बताया ।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में 40 घंटे तक नहीं थमेगी बारिश:मौसम वैज्ञानिक