मनी लॉन्ड्रिंग केस में अनिल देशमुख को , कोर्ट ने 19 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा


मुंबई (मानवी मीडिया): 19 नवंबर तक महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। अनिल देशमुख मनी लॉन्ड्रिंग केस में अब तक ED की हिरासत में थे। आज (6 नवंबर, शनिवार) उनकी प्रवर्तन निदेशालय की कस्टडी समाप्त हो रही थी। इसलिए प्रवर्तन निदेशालय ने उन्हें PMLA अदालत में पेश किया। अदालत ने अनिल देशमुख की हिरासत को और 13 दिनों के लिए बढ़ा दिया।

अदालत में सुनवाई मनी लॉन्ड्रिंग केस में अनिल देशमुख को बड़ा झटका, कोर्ट ने 19 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में भेजाके लिए पेश करने से पहले अनिल देशमुख को मुंबई के जे.जे. हॉस्पिटल में मेडिकल चेक अप के लिए ले जाया गया। दोपहर 12.30 बजे अनिल देशमुख से जुड़े मामले की सुनवाई आरम्भ हुई। अनिल देशमुख सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय के दफ्तर में हाजिर हुए थे। प्रवर्तन निदेशालय ने 12 घंटे की पूछताछ के पश्चात् उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। तत्पश्चात, मुंबई की विशेष अदालत ने उन्हें 6 नवंबर तक के लिए प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत में भेज दिया था।

वही प्रवर्तन निदेशालय ने इसके पश्चात् अनिल देशमुख के बेटे ऋषिकेश देशमुख को शुक्रवार (5 नवंबर) को पूछताछ के लिए हाजिर होने का आदेश देते हुए समन भेजा। ऋषिकेश हाजिर नहीं हुए। आज वे गिरफ्तारी से पूर्व जमानत के लिए सेशंस अदालत पहुंच गए। इस पर 12 नवंबर को सुनवाई होगी। इस बीच अनिल देशमुख पर 100 करोड़ की वसूली का आरोप लगाने वाले मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने इस मामले की तहकीकात कर रहे चांदीवाल आयोग को एक हलफनामा भेजा है।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र

उत्तर प्रदेश में 40 घंटे तक नहीं थमेगी बारिश:मौसम वैज्ञानिक