महंगाई का झटका, एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में फिर बढ़ोतरी


नई दिल्ली (मानवी मीडिया) : अक्टूबर महीने के पहले दिन ही पेट्रोलियम कंपनियों ने महंगाई का झटका दिया है। इस बार यह बढ़ोतरी 19 किलो के कमर्शियल सिलेंडर पर हुई है। आज 1 अक्टूबर से दिल्ली में 19 किलो वाला कामर्शियल LPG सिलेंडर की कीमत 1693 रुपये से बढ़कर 1736.50 रुपये हो गई है। कमर्शियल सिलेंडर की कीमत में 43 रुपये बढ़ाए गए हैं। वहीं, नॉन-सब्सिडी वाले घरेलू एलपीजी सिलेंडर की कीमत 884.50 रुपये बनी हुई है। कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों को देखते हुए लग रहा था कि LPG सिलेंडर की कीमत 900 रुपये के पार जा सकती है।

बता दें कि सितंबर महीने की शुरुआत आम आदमी के लिए महंगाई के तड़के के साथ हुई थी। सरकारी तेल कंपनियों ने घरेलू LPG सिलेंडर के दाम में फिर बढ़ोतरी कर दी। बिना सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर की कीमत 1 सितंबर को 25 रुपए बढ़ा दी गई।

दिल्ली में 14.2 किलोग्राम के LPG सिलेंडर का दाम बढ़कर 884.50 रुपये हो गए हैं। बीते महीने 15 दिन में ही गैर-सब्सिडी वाला LPG सिलेंडर 50 रुपये महंगा हो चुका है। इससे पहले पेट्रोलियम कंपनियों ने 18 अगस्त को गैस सिलेंडर की कीमतों में 25 रुपये का इजाफा किया था। जुलाई में भी सिलेंडर के दाम बढ़ाए गे थे। वहीं 19 किलोग्राम कमर्शियल गैस सिलेंडर के दाम में 75 रुपये की बढ़ोतरी हुई है।

मुंबई में 14.2 किलोग्राम LPG सिलेंडर के दाम 884.5 रुपये, चेन्नई में आपको LPG सिलेंडर 900.50 रुपये में मिलेगा। वहीं उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सिलेंडर के दाम 897.5 रुपये हैं।

बता दें कि 1 जनवरी से 1 सितंबर तक रसोई गैस की कीमत में 190 रुपये की बढ़ोतरी हुई है। वहीं 19 किग्रा वाले कमर्शियल गैस सिलेंडर की बात करें तो दिल्ली में इसकी कीमत 1693 रुपये है। कोलकाता में भाव 1772 रुपये, मुंबई में 1,649 रुपये और चेन्नई में 1,831 रुपये प्रति सिलेंडर हो गए हैं।

सरकार ने हर महीने कीमतों में इजाफा करके LPG पर मिलने वाली सब्सिडी को खत्म कर दिया है। हर महीने दाम में बढ़ोतरी के चलते मई 2020 तक सब्सिडी खत्म हो गई। रसोई गैस की कीमत पिछले सात सालों में दोगुनी से अधिक हो गई हैं। 1 मार्च 2014 को 14.2 किलोग्राम रसोई गैस सिलेंडर की कीमत 410.5 रुपये थी।

Popular posts from this blog

उ0प्र0:: सीओ महिला सिपाही के साथ आपत्तिजनक स्थित में पकड़े गए

लखनऊ ,उ0प्र0में कोरोना की तीसरी वेव ने दी दस्तक, 50 से ज्यादा मौत, मुख्यमंत्री योगी ने दिए सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश राज्य भण्डारण निगम के गोदामों में तीस हज़ार श्रमिक, जो ठेकेदारों द्वारा भर्ती किये जा रहे थे उन्हें नियमितीकरण कराने के लिए , मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र